छत्तीसगढ़

बच्चे की मौत से नाराज महिला ने कर दी सास की हत्या, जादू-टोना का था शक, आरोपित बहू गिरफ्तार

बलरामपुर

बलरामपुर जिले के रघुनाथ नगर पुलिस की टीम ने ग्राम पंचायत सरना पटेलपारा में एक महिला को हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया है मामले में पुलिस ने मृतिका के बहू को ही गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दिया है। आरोपी बहू ने डायन-टोनही के शक पर अपने सास की हत्या कर दी थी। ग्राम पंचायत सरना पटेल पारा में 6 सितंबर को एक महिला की हत्या हुई थी और उसकी लाश उसके ही घर में पड़ी हुई थी। मृतका के बेटे ने थाने में आकर रिपोर्ट दर्ज कराया था जिस पर पुलिस की टीम ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू किया था। पीएम रिपोर्ट में स्पष्ट हुआ कि महिला की पीट कर हत्या की गई है, क्योंकि उसके चेहरे पर चोट के निशान थे और खून भी निकल रहा था।

जानकारी के अनुसार ग्राम सरना पटेलपारा निवासी रामबदन सिंह ने बीते सात सितंबर को रघुनाथनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि छह सितंबर की रात भोजन कर परिवार के साथ सो रहा था।इसकी मां मृतका अतवरिया रोज की तरह अकेले अलग कमरे में सोई थी। इसकी मां की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी।अक्सर उल्टा-सीधा बड़बड़ाते रहती थी।रात करीब 11 बजे इसकी पत्नी देवकुंवर ने बताया कि मां के कमरे से आवाज नहीं आ रही है।उसकी मां हमेशा हल्ला करती थी इस लिए रात्रि में ध्यान नहीं दिया। सुबह मां के कमरे में जाकर देखा तो उसकी मां खाट में मृत पड़ी थी।

मृतका के कनपटी एवं गले में काला दाग एवं खून जैसा दिखाई दे रहा था। साड़ी एवं शाल में खून लगा हुआ था।घटनास्थल की जांच में प्रथम दृष्टया ही मामला संदिग्ध लग रहा था।पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि पर पुलिस ने जांच शुरू की।घर में रहने वाले के अलावा किसी अन्य के घटना में संलिप्तता का संदेह नहीं होने पर पुलिस ने मृतका की बहू देवकुंवर से पूछताछ शुरु की।आरंभ में तो वह पुलिस को गुमराह करने की कोशिश करती रही लेकिन जब उसके विरोधाभाषी बयानों को लेकर पुलिस ने सवाल पूछना शुरू किया तो वह टूट गई।उसने सास की हत्या करना स्वीकार कर लिया।कार्रवाई में

आरोपित बहू देवकुंवर ने बताया कि उसे संदेह था कि सास अतवारिया बाई द्वारा जादू-टोना किया जाता है इसलिए पिछले वर्ष उसके बच्चे की मौत हो गई है।बीते मंगलवार छह सितंबर की सुबह सास अतवरिया बाई के साथ इसी बात को लेकर विवाद हुआ। विवाद करने पर दरवाजा के चौखट पर धकेलकर सिर में चोट पहुंचाकर खाट में गिरा दिया। लकड़ी से कनपटी के पास वार करने और गले के पास दबाकर सास की हत्या करना स्वीकार किया।

मृतका अतवारिया पर डंडे से वार करने के कारण कमरे में खून के छींटे थे।साक्ष्य मिटाने के लिए उसने कमरे की लिपाई कर साफ कर दी थी।पति को भी नहीं बताया था कि उसने सास की हत्या कर दी है।कार्रवाई में निरीक्षक बीएलसिंह, उप निरीक्षक रामसाय भगत, आरक्षक अभिषेक पटेल, मनोज गुप्ता, सुरेन्द्र उईके, महिला आरक्षक प्रमीला तिग्गा सक्रिय रहे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.