छत्तीसगढ़

नशीले पदार्थों को नष्ट करने का निर्णय, BSP की भट्ठी में जलेगा गांजा-चरस

कबीरधाम

जिले में जब्त किए गए नशीले पदार्थों को नष्ट करने का निर्णय लिया गया है। जब्त नशीले पदार्थों को नष्ट करने के लिए रेंज स्तर पर हाई लेवल ड्रग्स डिस्पोजल समिति गठित की गई है। यह समिति अपनी निगरानी में 3 अक्टूबर को कबीरधाम जिले से 6.14 टन गांजा और चरस को दुर्ग लाएगी। इसके बाद इसे भिलाई स्टील प्लांट नष्ट करने के लिए ले जाया जाएगा। जानकारी के मुताबिक कबीरधाम से नारकोटिक्स एक्ट के तहत कुल 109 प्रकरणों में 6135.430 किलोग्राम गांजा, 7.840 किलो ग्राम गांजा का पौधा और 560 ग्राम चरस को नष्ट करने की सूची दी गई है। भिलाई इस्पात संयंत्र के एसएमएस-01 की भट्ठी में 3 अक्टूबर को जलाकर नष्ट कर दिया जाएगा।

यह टीम लगभग 6.14 टन जब्त गांजा और चरस को विशेष निगरानी में लेकर भिलाई आएगी। इसके बाद इसे भिलाई स्टील प्लांट की भट्ठी में डालकर नष्ट कर दिया जाएगा। दुर्ग संभागायुक्त कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक दुर्ग रेंज के कबीर धाम जिले में बड़ी संख्या में एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। जिसके तहत भारी मात्रा में गांजा और चरस जैसे नशीले पदार्थ जब्त किए गए हैं। मामलों का निराकरण होने के बाद इसमें जब्त नशीले पदार्थ को नष्ट करने का निर्णय लिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.