रायपुर

बीमार मां की गला घोंटकर कलयुगी बेटे ने ले ली जान, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हुआ खुलासा

रायपुर

राजधानी में बेटे ने गला घोंटकर अपनी बीमार मां की जान ले ली। वारदात के दौरान घुटते दम की वजह से तड़पती मां बेटे को जोर से पकड़ लिया, छोड़ देने को भी कहती रही मगर बेटे के सिर पर खून सवार था। हत्या के बाद बेटे ने खुद रिश्तेदारों को मां के मरने की खबर ऐसे सुनाई ताकि मौत बीमारी की वजह से हुई हो। मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई तो बेटे की करतूत का खुलासा हो गया।

घटना 3 दिन पहले रायपुर के टिकरापारा इलाके में हुई थी। हालांकि तब इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी थी कि, बुजुर्ग महिला की मौत बीमारी से हुई या उसकी हत्या की गई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में एक्सपर्ट ने पाया कि, महिला की मौत गला घोंटे जाने की वजह से ही हुई थी। बेटे से जब पुलिस जानकारी लेना चाही तो वह अपना बयान लगातार बदल रहा था। कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने कबूला कि, कपड़े से गला घोंटकर उसने मां की जान ली है।

दरअसल महिला के भतीजे ने थाने पहुंचकर संदेह जताते हुए पुलिस को मौत की जानकारी दी थी। पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला 75 साल की शकुंतला जाधव लंबे वक्त से बीमार थीं, और अचानक उनकी मौत हो गई। परिजनों ने बुजुर्ग महिला की मौत के पीछे बेटे गोलू उर्फ जयेश जाधव पर शक भी जाहिर किया था। शकुंतला के भतीजे प्रियेश चावड़ा ने पुलिस को खबर दी थी। उसने कहा कि बुआ पिछले 6 महीनों से कमर की हड्डी फ्रैक्चर हो जाने की वजह से वो बिस्तर पर ही भोजन करती थीं। वह शौचालय भी नहीं जा पाती थीं। इस वजह से बेटे जयेश जाधव पर मां की सेवा करने का जिम्मा था।

शकुंतला की तीन बेटियां भी हैं। बेटियों के घर से मां के भोजन जाता था। रिश्तेदार भी बीच-बीच में हालचाल लेने घर आया करते थे।अक्सर जयेश का मां के साथ विवाद होता रहता था। इसी वजह से तंग आकर जयेश ने मां की जान ले ली। महिला के गले पर मौजूद निशान की वजह से परिजनों और पुलिस को शक हुआ और आखिरकार अब जयेश को टिकरापारा थाने की पुलिस गिरफ्तार कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.