छत्तीसगढ़

DGP अवस्थी ने मीटिंग कर अपराध रोकने पुलिस महानिरीक्षकों दिए मंत्र, चिटफंड में निवेशक करने वालों को धन वापसी कराएं

रायपुर

DGP डीएम अवस्थी ने पुलिस महानिरीक्षकों की समीक्षा बैठक में कानून व्यवस्था से लेकर राज्य सरकार तक की प्राथमिकताओं को मजबूती से रखते हुए कहा कि इनका हर हाल में पालन करें और अपराधों पर प्रभावी रोकथाम के लिए आकस्मिक निरीक्षण भी तेज करें। डीजीपी डीएम अवस्थी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप अपराधों पर प्रभावी रोकथाम लगाने हेतु आज राज्य के सभी रेंज के पुलिस महानिरीक्षकों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में चिटफंड के मामलों में निवेशकों को धन वापसी, आदिवासियों पर दर्ज प्रकरणों की वापसी एवं राजनैतिक प्रकरणों की वापसी, अवैध शराब, सट्टा के विरुद्ध की जाने वाली कार्रवाई एवं लंबित प्रकरणों का निराकरण रेंज स्तर पर अभियान चलाकर कार्रवाई हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। डीजीपी श्री अवस्थी ने सभी पुलिस महानिरीक्षकों को निर्देश दिये कि राज्य शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता के बिंदुओं पर तत्परता से कार्रवाई करें।

DGP ने कहा कि अपराधों पर रोकथाम के लिये पुलिस महानिरीक्षक रेंज के सभी जिलों का आकस्मिक निरीक्षण करें । पुलिस की प्राथमिकता पीडि़तों को न्याय दिलाना है, इसके लिये लंबित प्रकरणों की शीघ्रता से जांच कराकर अपराधियों को सजा दिलायें। डीजीपी ने पुलिस विरूद्ध शिकायतों की अविलंब जांच के निर्देश दिये। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग विवेकानंद, रायपुर डॉ आनंद छावड़ा, बिलासपुर/सरगुजा रतन लाल डांगी, बस्तर सुंदरराज पी, पुलिस महानिरीक्षक सीआईडी सुशील चंद द्विवेदी सहायक पुलिस महानिरीक्षक यूबीएस चौहान, निरीक्षक आर एस पांडेय उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.