छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी….मामूली बात पर देवर के बेटे ने की नृशंस हत्या

सूरजपुर

प्रतापपुर थाना क्षेत्र के ग्राम अमनदोन में 15 अगस्त को हुई महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। मामले में पुलिस ने मृतका के देवर के बेटे को गिरफ्तार किया है। दरअसल मृतका आए दिन शराब के नशे में देवर के परिवार से गाली-गलौज करती थी। इसी रंजिश के कारण देवर के बेटे ने सब्बल से वार कर महिला को मौत के घाट उतार दिया था। प्रतापपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम अमनदोन निवासी धनियो प्रजापति पति विफल राम 53 वर्ष शराब पीने की आदी थी। वह कभी-कभी शराब का सेवन कर लेने के बाद 1-2 दिन घर नहीं आती थी। इसी बीच 15 अगस्त की शाम 4 बजे घर से बस्ती की तरफ गई, लेकिन वापस नहीं लौटी। पति ने शुरु में सोचा कि पूर्व की तरह वह खुद ही घर लौट आएगी, लेकिन वह अगले दिन भी घर नहीं आई। इसके बाद 17 अगस्त की सुुबह खोजबीन के दौरान घर के पीछे पुटुस झाड़ी के पास उसकी लाश मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। मृतका के सिर के पीछे एवं दाहिने आंख के पास चोट के निशान थे।

पीएम रिपोर्ट में भी हत्या की पुष्टि होने पर पुलिस धारा 302, 201 के तहत अपराध दर्ज कर जांच में जुट गई। विवेचना के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि मृतका अक्सर शराब के नशे में पड़ोस में रहने वाले अपने देवर गेंदाराम के परिवार को गाली-गलौज करती थी, इसकी वजह से दोनों परिवारों में बातचीत व आना-जाना बंद था। फिर शक के आधार पर पुलिस ने गेंदाराम के बेटे बालक प्रजापति को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपनी चाची की हत्या  करने का जुर्म कबूल लिया। इस पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त सब्बल को जब्त कर लिया।

आरोपी ने बताया कि 15 अगस्त की रात करीब 8 बजे वह अपने घर जा रहा था। इसी दौरान मृतका अपने घर के पीछे से गाली-गलौज कर रही थी जिसे वह समझाने गया। समझाने के बाद भी नहीं मानी तब आरोपी ने आवेश में आकर सब्बल से मृतका के सिर पर ताबड़तोड़ प्रहार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद शव को पुटुस झाड़ी में छिपा दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.