रायपुर

जन्मदिन पर अपनी मां के नाम के कॉलेज का शुभारंभ करते हुए भावुक हुए CM भूपेश, छात्रों से कहा खूब तरक्की करो

दुर्ग

अपने जन्मदिन के अवसर पर सीएम भूपेश बघेल ने दुर्ग जिले के कुम्हारी में नवीन महाविद्यालय शुभारंभ किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि नवीन महाविद्यालय के शुभारंभ होने से कुम्हारी के छात्र-छात्राओं को भिलाई-3 और रायपुर तक पढ़ाई के लिए जाने की दिक्कत से छुटकारा मिलेगा। इसके साथ ही यहां आट्र्स, साइंस और कामर्स की पढ़ाई की सुविधा भी है। इस तरह तीनों ही विषयों की कक्षाओं की उपलब्धता होने से उच्च शिक्षा की बेहतरीन व्यवस्था कुम्हारी में तैयार हो गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह हमारे लिए गौरव का विषय है कि छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा का अवसर हमें मिला है। हम पूरे समर्पण के साथ प्रदेश के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। मुख्यमंत्री के उद्बोधन के पूर्व प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने अपने उद्बोधन में महाविद्यालय का नाम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता स्व. बिन्देश्वरी बघेल के नाम पर रखने की घोषणा की थी। अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री ने इसके लिए कैबिनेट के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मेरे लिए यह भावुक क्षण है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुम्हारी के नागरिकों की ओर से महाविद्यालय की मांग आई थी। इसे पूरा करने के लिए निर्देश दिए गए थे। इसी सत्र में यह अस्तित्व में आया, इसके लिए प्रशासन की तत्परता प्रशंसनीय है। इस मौके पर प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि कुम्हारी में शैक्षणिक अधोसंरचना के विस्तार के दृष्टिकोण से यह बड़ा निर्णय है। इसका लाभ कुम्हारी क्षेत्र के युवाओं को मिलेगा। उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने इस अवसर पर कहा कि यह बहुत खुशी का विषय है कि शैक्षणिक अधोसंरचना को बढ़ावा देने की दृष्टि से एक बड़ा काम आज हुआ है। इससे कुम्हारी की बड़ी आबादी को लाभ होगा। आने-जाने में काफी समय बच जाएगा। इस मौके पर दुर्ग कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे भी उपस्थित थे। उन्होंने महाविद्यालय की सुविधाओं के बारे में विस्तार से सीएम को जानकारी दी। कालेज की प्राचार्य डॉ. अमृता कस्तुरे ने बताया कि बीए और बीकाम में 90 सीट और साइंस में 45 सीट रखी गई है। अभी 200 छात्र-छात्रा आवेदन कर चुके हैं। नव प्रवेशित छात्र चंद्र प्रकाश यादव ने भी मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। चंद्र प्रकाश ने कहा कि उसने बीएससी में एडमिशन लिया है। अभी यहां महाविद्यालय नहीं होने पर उसे रायपुर अथवा भिलाई में पढऩा पड़ता जिससे काफी दिक्कत हो जाती। अब यहां घर पर ही रहकर अच्छी पढ़ाई कर सकेंगे। इस मौके पर नगर पालिका अध्यक्ष राजेश सोनकर, उपाध्यक्ष के रवि कुमार, मुख्यमंत्री के ओएसडी मनीष बंछोर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.