छत्तीसगढ़

कामवाली बाई के बेटे ने दोस्त के साथ की पेट्रोल पंप मालकिन की नृशंस हत्या

अंबिकापुर

सुभाषनगर में किराए के मकान में रह रही रिटायर्ड शिक्षिका की हत्या की गुत्थी पुलिस ने 2 दिन के भीतर ही सुलझा ली। मामले में पुलिस ने कामवाली बाई के बेटे व उसके दोस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से मृतिका की कार व चोरी की गई अन्य सामग्री भी जब्त की है। जल्द अमीर बनकर अच्छे से लाइफ व्यतीत करने के चक्कर में नवयुवकों ने जघन्य वारदात को अंजाम दिया। हत्या करने दोनों रात में ही दीवार फांदकर घुसे थे, जब रिटायर्ड टीचर सुबह दरवाजा खोलकर बाथरूम की ओर गई तो दोनों आरोपी किचन से चाकू निकालकर सोफे के पीछे छिप गए थे। फिर मौका पाकर दोनों ने उसकी नृशंस हत्या कर दी थी। गौरतलब है कि कोरबा निवासी शांंति पटेल रिटायर्ड शिक्षिका व पेट्रोल पंप की मालकिन भी थी। वह गांधीनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत महापौरपारा सुभाषनगर में विरेंद्र शर्मा के मकान में किराए के मकान में अकेली रहती थी। उसने कामवाली बाई भी रखा था लेकिन कुछ दिन पहले उसे निकाल दिया था। कामवाली बाइक का बेटा भी एक-दो बार अपनी मां के साथ वहां गया था। 23 अगस्त को रिटायर्ड शिक्षिका के भतीजे विक्रम पटेल ने थाने में जानकारी दी कि उसकी मौसी की हत्या कर दी गई है, कार भी गायब है। उसने बताया कि वह रिश्ते के जीजा रामाशंकर पटेल के कहने पर मौसी के घर गया था, जब दोनों ने दरवाजा तोड़कर भीतर प्रवेश किया तो गला कटी लाश पड़ी थी। दोनों पैर बेल्ट से बंधे थे। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और एएसपी चंचल तिवारी तथा सीएसपी एसएस पैंकरा की मौजूदगी में जांच शुरु की। फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने फिंगर व फूट प्रिंट लिए तथा डॉग स्क्वायड की मदद से भी सबूत जुटाए गए। पड़ोसियों से पुलिस ने जानकारी ली तो पता चला कि 21 अगस्त की सुबह कार स्टार्ट होने की आवाज आई थी, इसके बाद का उसे कुछ पता नहीं था।

पुलिस की टीम ने हत्या की गुत्थी सुलझाने जांच शुरु की। इसी बीच मुखबिर से सूचना मिली कि मृतिका की कार क्रमांक सीजी 12 एजे-9351 से दो युवक मनेंद्रगढ़ मार्ग पर बिश्रामपुर की ओर तेजी से जा रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस ने दोनों को कालीघाट के पास धरदबोचा। पकड़े गए दोनों युवकों से जब पूछताछ शुरु की गई तो उन्होंने हत्या की बात स्वीकार कर ली। इसके बाद पुलिस ने बिलासपुर जिले के ग्राम नेवार, मल्हार हाल मुकाम, गांधीनगर हनुमान मंदिर के पास निवासी पृथ्वीराज उर्फ पप्पू भैना पिता अरुणराज भैना 19 वर्ष तथा बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर पशुपतिपुर निवासी अनुराग सिंह मरकाम पिता रामरूप सिंह 18 वर्ष को गिरफ्तार कर धारा 302, 450 के तहत जेल भेज दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.