बिलासपुर

ओडिशा से गांजा लेकर MP जा रहे 7 तस्कर गिरफ्तार, पुलिस से बचकर भाग रहे थे तस्कर, पीछा करने के दौरान तालाब में घुसी कार, कुछ आरोपी फरार

​​​​​​​बिलासपुर

छत्तीसगढ़ में गांजा तस्करों को पकड़ने के लिए मंगलवार को चोर-पुलिस का जमकर खेल हुआ। बिलासपुर और कवर्धा पुलिस तस्करों को पीछा कर करीब 5 घंटे की मशक्कत के बाद दो कार में सवार 7 आरोपियों को पकड़ लिया। इस दौरान आरोपियों की कार तालाब में फंस गई। इसके बाद पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। हालांकि, कुछ आरोपी भाग भी निकले। पकड़े गए आरोपियों से 37 किलो गांजा बरामद हुआ है। आरोपी ओडिशा से गांजा MP में बेचने के लिए ले जा रहे थे। बिलासपुर के तारबहार थाना पुलिस को मंगलवार सुबह सूचना मिली थी कि कार में ओडिशा से गांजा की तस्करी की जा रही है। इस पर अलग-अलग थानों की संयुक्त टीम बनाकर रायपुर रोड में तैनात की गई। इस दौरान दोपहर करीब एक बजे मध्य प्रदेश नंबर की एक कार आती दिखाई दी। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो वह भागने लगे। इस पर बिल्हा मोड़ के पास घेराबंदी कर पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। कार में 5 युवक सवार थे। तलाशी के दौरान बैग से 30 किलो गांजा बरामद हुआ। अभी पुलिस कार्रवाई कर ही रही थी कि एक अन्य कार तेजी से वहां से निकल गई। इस पर पुलिस ने उस कार का पीछा किया तो वह कवर्धा की ओर भाग निकले। इस पर कवर्धा SP को सूचना देकर नाकाबंदी कराई गई। तभी आरोपी माठपुर-कामठी होते हुए MP की ओर जाते दिखाई दिए। पुलिस ने पीछा किया तो कार अनियंत्रित होकर ग्राम माठपुर के तालाब में घुस गई। इस दौरान पुलिस ने दो को पकड़ लिया। जबकि अन्य आरोपी फरार हो गए। कार से एक-एक किलो के 7 गांजे के पैकेट बरामद हुए हैं। बिलासपुर में पकड़े गए आरोपियों शहडोल निवासी राजेश महरा, डिंडोरी निवासी समीर सिद्दीकी, मनीष दास टांडिया, शहडोल निवासी साजन चौधरी और गोपाल प्रसाद मेहरा के खिलाफ हिर्री थाना पुलिस ने NDPS एक्ट में कार्रवाई की है। वहीं कवर्धा में पंडरिया SDO नरेंद्र वेंताल ने बताया कि दो आरोपी को पकड़े गए हैं। शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि मलकानगिरी (ओडिशा) से MP के डिंडोरी जिले में गांजा सप्लाई करना था। इस दौरान वे कुकदुर पुलिस के हत्थे चढ़ गए। कार्रवाई जारी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.