बिलासपुर

छत्तीसगढ़: साहब खोज रहे थे दुल्हन…. हो गये धोखाधड़ी के शिकार….

बिलासपुर

शिक्षा विभाग के रिटायर्ड अधिकारी, पत्नी की मौत के बाद दूसरी शादी के लिए वधु खोज रहे थे और फंस गए ठगों के जाल में। जालसाजों ने उनसे फोन पर संपर्क कर एक लाख 20 हजार स्र्पये ले लिए। पीड़ित की शिकायत सिविल लाइन थाने में की है। इस पर पुलिस जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। जरहाभाठा में रहने वाले 72 वर्षीय सेवानिवृत्त अधिकारी ने अपनी श्ािकायत में बताया कि उनकी पत्नी शिक्षा विभाग में कार्यरत थी। उनकी 2007 में मौत हो गई। संतान नहीं होने के कारण पत्नी की मौत के बाद वे अकेले पड़ गए। ऐसे में दूसरी शादी के लिए विधवा या परित्याक्ता महिला की तलाश कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने मैरिज ब्यूरो का विज्ञापन देखा। इसमें बताए नंबर पर संपर्क करने पर उनसे रजिस्ट्रेशन के लिए आठ हजार 500 स्र्पये मांगे गए। इसके बाद मैरिज ब्यूरो ने बिल्हा निवासी अंजू यादव की जानकारी देते हुए फोन नंबर दिया। इस नंबर पर बात करने पर महिला ने बताया कि वह दूरसंचार विभाग से सेवानिवृत्त है। बातचीत के दौरान 11 जुलाई को महिला ने उन्हें कहा कि वे बिलासपुर आ रही हैं। इसके बाद महिला ने बताया कि उनके मामा की तबीयत खराब हो गई है। इसके कारण वे जबलपुर चली गई। बाद में महिला ने अपने मामा के उपचार के लिए अलग-अलग बहानों से स्र्पये मांगे। इसके बाद में महिला ने खुद की तबीयत खराब होने का बहाना कर स्र्पये मांगे। इस तरह महिला ने कुल एक लाख 20 हजार स्र्पये ले लिए। इसके बाद भी महिला स्र्पये की मांग करती रही। इस पर उन्होंने स्र्पये देने से इन्कार कर दिया। साथ ही उसे बताया कि उनका नाती पढ़ने के लिए विदेश जा रहा है। इसके लिए स्र्पये की जरूरत है। इस पर महिला ने पेंशन की राशि मिलते ही स्र्पये लौटाने की बात कही। इसके बाद उसने फोन उठाना बंद कर दिया। अधिकारी ने इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में की है। इस पर पुलिस जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.