छत्तीसगढ़

एयरटेल में नौकरी लगाने के नाम पर शहर में चिपका रहा था विज्ञापन….कोतवाली ने अपराध कायम कर उसी से उखड़वाये पम्पलेट

कोरिया/बैकुंठपुर

मामले में रोशनी तब आई जब कोतवाली पुलिस ने आज सुबह करीब 03:00 बजे पेट्रोलिंग के दौरान दो लड़कों इंद्रेश कुमार उम्र 28 वर्ष एवं अमित सिंह उम्र 26 वर्ष निवासी भवानीपुर, जिला जौनपुर, उत्तर प्रदेश को एयरटेल में नौकरी लगाने वाले विज्ञापन पम्पलेट को फव्वारा चौक बैकुंठपुर में चिपकाते हुए देखा, पैट्रोलिंग पार्टी ने उन दोनों लड़को को उक्त विज्ञापन के बारे में विस्तार से बताने को कहा जिसमे दोनो असमर्थ रहें, पुलिस को शक हुआ कि विज्ञापन फर्जी है और इस शक के आधार पर विज्ञापन में दिए गए नम्बरों को फोन लगाया गया जिसमें सभी नम्बर एंगेज रहा और कोई भी फोन नही लगा।

इस संबंध में एयरटेल कंपनी से कोतवाली टीम ने जानकारी चाहा तो पता लगा कि नौकरी के लिए ऐसा कोई भी विज्ञापन उसने जारी नहीं किया है। जिस पर थाना बैकुंठपुर ने तत्काल एक्शन लेते हुए दोनों आरोपी लड़को पर अपराध कायम किया और उनसे पूछताप पर उन दोनों ने बताया कि उन्होंने पोस्टर को बस स्टैंड से लेकर फव्वारा चौक तक चिपकाया है। बैकुंठपुर पुलिस टीम ने उन सभी विज्ञापनों को उन्ही दोनो आरोपियों से उखड़वाया। आरोपियों को आज दिनांक 07.09.21 को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

एसपी ने की आम जतना से अपील-
कोरिया एसपी ने आम जनता से अपील करते हुए कहा कि ऐसे फर्जी और भ्रामक विज्ञापन के झांसे में न आये, ये बेरोजगार युवाओं को छलने का एक तरीका है जिसे मोबाइल टावर के नाम पर बड़े-बड़े विज्ञापन दिए जा रहे हैं और लोगों से पैसे लिए जा रहे हैं। ये ठग खुद को एयरटेल, आइडिया, ट्राई या दूरसंचार सेवा प्रदाताओं का एजेंट बताते हैं। इसके अलावा फर्जी विज्ञापन के पैम्फलेट बांटते हैं और फर्जी कॉल करके लोगों को कई तरह के ऑफर्स देते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.