छत्तीसगढ़

किसानों के महाबंद को लेकर CM भूपेश ने दिया बड़ा बयान, पढ़े पूरी खबर…

रायपुर

 महासमुंद रवाना होने से पहले सीएम भूपेश ने मीडिया से चर्चा करते हुए 27 सितंबर को होने वाले किसानों के महाबंद को समर्थन देने की बात कही। मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा, केंद्र सरकार के तीनों कानूनों के खिलाफ सबसे पहले राहुल गांधी ने रैली निकाली थी। जिसके बाद पंजाब, हरियाणा के किसान और अलग-अलग राज्यों के किसानों ने आंदोलन किया। छत्तीसगढ़ के किसान भी शामिल हुए। इसके खिलाफ छत्तीसगढ़ विधानसभा में भी हमने बिल पारित किया था, लेकिन राजभवन से कुछ नहीं हुआ है। राज्योत्सव और आदिवासी नृत्य महोत्सव पर सीएम भूपेश ने कहा, आदिवासी नृत्य महोत्सव प्रतिवर्ष आयोजित करने पिछले वर्ष घोषणा हुई थी, आदिवासी नृत्य महोत्सव के साथ राज्योत्सव का भी आयोजन किया जाएगा। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आयोजन होगा। इसमें छत्तीसगढ़ के कलाकारों के साथ ही बाहर के कलाकार भी शामिल होंगे। उन्होंने कहा, पिछले वर्ष के मुकाबले इस बार कुछ अलग कार्यक्रम किए जाएंगे। आदिवासी नृत्य महोत्सव के माध्यम से अन्य राज्यों से आए कलाकारों की अर्थव्यवस्था जाने की भी कोशिश होगी। जिसमें परिचर्चा का आयोजन किया जाएगा। इस बार के आयोजन में नवीनता देखने को मिलेगी। केंद्रीय गृहमंत्री द्वारा नक्सल राज्यों की बैठक में शामिल ना होने के सवाल पर सीएम ने कहा, कुर्मी क्षत्रिय समाज के आयोजन के लिए पहले ही समय दे दिया गया था। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के संदर्भ में लगातार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात होती रहती। हालांकि, बीजेपी शासन काल में जहां नक्सली थे आज वहां विकास की बयार बह रही है। अलग-अलग विकास कार्य हो रहे हैं। आधार कार्ड, राशन कार्ड, हेल्थ कार्ड से लेकर तमाम सुविधाएं रोजगार जैसी सुविधाएं देने का कार्य हम कर रहे हैं। आज नक्सली सिमट गए हैं। सीएम भूपेश ने जशपुर में हुए दिव्यांग बच्ची से दुष्कर्म मामले पर कहा, मामले में कार्रवाई हुई है पर इस प्रकार की घटना दोबारा ना हो इसकी कोशिश हमारी रहेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.