देश

यूपी ATS का खुलासा- लखनऊ समेत प्रदेश में सीरियल ब्लास्ट की थी साजिश, लाइव बम भी बरामद

लखनऊ

उत्तर प्रदेश के लखनऊ के काकोरी से हिरासत में लिए गए दो संदिग्ध अलकायदा आतंकी लखनऊ समेत प्रदेश के कई जिलों में सिलसिलेवार ब्लास्ट करने के फिराक में थे. संदिग्धों ने बड़े धमाके की साजिश की थी. यूपी एटीएस (UP ATS) द्वारा हिरासत में लिए गए इन दो संदिग्धों के पास से प्रेशर कुकर बम भी मिला है जो काफी हैवी विस्फोटक है और लाइव बम बरामद हुआ है.

यूपी एटीएस के आईजी जीके गोस्वामी ने बताया कि यूपी और लखनऊ में सिलसिलेवार ब्लास्ट की प्लानिंग थी. लाइव बम भी बरामद हुआ है. संदिग्ध आतंकियों का कश्मीर से लिंक है. ये स्लीपर सेल थे पर अब एक्टिव होकर काम कर रहे थे. आज या कल में लखनऊ और यूपी में ब्लास्ट करने करने वाले थे. इनके पास से काफी विस्फोटक बरामद हुआ है. ये लोग बड़ी साजिश को अंजाम देना चाहते थे. कई दिनों से प्लानिंग चल रही थी. अभी ऐसे कई छुपे हो सकते हैं जिसको लेकर लगातार रेड जारी है. पकड़े गए एक संदिग्ध का नाम शाहिद है. वह मलिहाबाद का रहने वाला बताया जा रहा है. जिस मकान पर छापा पड़ा वह शाहिद का ही है, यहां वह परिवार के साथ रहता है और मोटर गैराज का काम करता है. इन संदिग्धों का कश्मीर कनेक्शन भी सामने आया है जिसकी पड़ताल की जा रही है. यूपी एसटीएस के मुताबिक नेटवर्क में काफी लोग जुड़े हैं.

शाहिद, रियाज और सिराज के घर पर यूपी ATS ने छापेमारी की है. पड़ोसी आलम के मुताबिक 12 सालों से इनका परिवार यहां रह रहा है. रियाज और सिराज सरकारी नौकरी से रिटायर हैं और शाहिद गैराज चलाता है. 9 साल पहले शाहिद नौकरी के लिए दुबई भी गया था. बताया जा रहा है कि गिरफ्तारी से पहले इन आतंकियों ने कुछ जलाया भी था. एटीएस से जम्मू कश्मीर के पुलिस अफसर भी संपर्क में हैं. छोटे ब्लास्ट की वजह से ATS को सुराग मिला था. उमर अल-मंदी इन संदिग्धों का कंट्रोलर था. पाकिस्तान-अफगानिस्तान बॉर्डर से हैंडलिंग हुई थी. कुछ और आतंकी मौके पर छिपे हो सकते हैं. सर्च ऑपरेशन जारी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.