बिलासपुर

चौक पर हो रहे विवाद को शूट करना युवक को भारी पड़ा, पुलिस उसे भी ले आई थाने, बाद में किया रिहा

बिलासपुर

सरकंडा इलाके में गुरुवार दोपहर एक झगड़े का वीडियो बना रहे छात्र को पुलिस कार्रवाई का सामना करना पड़ा। यह युवक विवाद और वहां मौजूद पुलिस कर्मियों का मोबाइल से वीडियो बना रहा था। पुलिस ने उसे भी हिरासत में ले लिया। पुलिस के मुताबिक यह पास्को एक्ट का मामला था, लिहाजा इसे गोपनीय रखा जाता है। पुलिस के डांटने से छात्र सहम गया था। वह चुपचाप थाने में रोते हुए जमीन पर बैठा रहा। जानकारी लेनी चाही तो वह इतना डर में था कि, उसने सिर हिलाते हुए अपने साथ हुई मारपीट की घटना की पुष्टि की. उसे सिर्फ वीडियो बनाने की पुलिस ने सजा दी।तखतपुर का रहने वाला कमलदेव (20) नामक युवक बिलासपुर के कृषि महाविद्यालय में पढ़ाई करता है> गुरुवार को वह घर से कॉलेज आया और वहां से एक पारिवारिक दशगात्र कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बैमा-नगोई जाने के लिए निकला। जब वह सरकंडा के अशोक नगर चौक के पास पहुंचा, तो उसे खमतराई रोड पर भीड़ दिखी। जहां पर पुलिस एक युवक को पकड़कर ले जाती दिखी। भारी भीड़ को देखकर छात्र वहां रुक गया और मोबाइल से भीड़ क वीडियो बनाने लगा. छात्र द्वारा वीडियो बनाना पुलिस को इतना नागवार गुजरा कि, उन्होंने छात्र को ही पकड़ लिया और उसका मोबाइल लूट लिया, फिर उसे थाने ले आए। इस संबंध में टीआई परिवेश तिवारी ने कहा कि पुलिस को सूचना मिली थी कि नाबालिग छात्रा के साथ एक युवक स्कूल के पास सरेराह छेडछाड कर रहा है। इस पर पुलिस की टीम वहां पहुंची, इस दौरान वहां भीड जुट गई थी। इस बीच युवक वीडियो बना रहा था उसे मना किया गया, तब वह अपने आप को मीडियाकर्मी बताने लगा, इसके चलते पुलिस उसे पकड कर थाने लाई थी। बाद में पूछताछ के बाद उसके परिजन को थाने बुलाकर उसे छोड़ दिया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.