देश

बसपा-सपा नेता सहित 28 पर रेप की FIR, लड़की ने पिता पर भी लगाया आरोप

ललितपुर

उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले में पिता और बेटी के पवित्र रिश्ते को कलंकित करने वाला मामला सामने आया है. 11वीं क्लास में पढ़ने वाली एक नाबालिग छात्रा ने अपने पिता पर बलात्कार करने के साथ-साथ सपा और बसपा जिलाध्यक्षों सहित 28 लोगों द्वारा भी बलात्कार करने का गंभीर आरोप लगाया है. इसके बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में पुलिस अधिकारियों ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी पिता, सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव, बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार सहित सभी 28 आरोपियों के खिलाफ बलात्कार सहित अन्य सुसंगत धाराओं में मुकद्दमा दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है. नाबालिग छात्रा की शिकायत के अनुसार, जब वह 6वीं क्लास में पढ़ती थी तभी से उसके पिता उसका शारीरिक शोषण और रेप की घटना को अंजाम देते आ रहे हैं, फिर धीरे-धीरे नाबालिग छात्रा के साथ उसके पिता अपने अन्य दोस्तों से भी बलात्कार जैसी घटना को अंजाम दिलाने लगे, जिनमें सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव और बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार भी शामिल है. छात्रा के मुताबिक, इसका विरोध करने पर उसे और उसकी मां के साथ मारपीट कर जान से मारने की भी धमकी दी गई, जिसके खौफ की वजह से वो शांत रहे और उसके साथ सालों तक यह चलता रहा. पीड़ित छात्रा और उसकी मां ने जब इस मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की तो उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए कार्रवाई के आदेश दिए.पीड़ित छात्रा का मेडिकल परीक्षण कराने के साथ-साथ अन्य कार्यवाही करते हुए आरोपियों के खिलाफ बलात्कार सहित अन्य सुसंगत धाराओ में मुकद्दमा दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी गई है. वहीं पिता की करतूत के सामने आने के बाद जिलेभर में आरोपियों के खिलाफ रोष व्याप्त है.इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक गिरजेश कुमार ने कहा कि यह मामला काफी संवेदनशील है, इसलिए लड़की का बयान लिया जा रहा है और सभी सावधानी बरती जा रही है, क्योंकि बिखरते रिश्ते का मामला है, इस मामले में हम बड़ी ही गंभीरता और संवेदनशीलता से जांच कर रहे हैं, इस मामले में 28 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव ने दी सफाई

रेप का आरोप लगने पर सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव ने कहा कि मैं आजतक आरोप लगाने वाली छात्रा से मिला भी नहीं हूं. तिलक यादव का कहना है कि उनको और उनके परिवार को बर्बाद करने की साजिश रची जा रही है. उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की. साथ ही कहा कि अगर झूठा फंसाया जाता है तो वह बीच चौराहे पर आत्महत्त्या कर लेंगे.

ये बीजेपी के लोगों का षड्यंत्र: बसपा जिलाध्यक्ष

बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार ने कहा कि मैं छात्रा को नहीं जानता हूं, ये पूरी साजिश है, जिस छात्रा ने अपने रिश्तेदारों के नाम पर भी शिकायत दर्ज करवाई है और वह अपने रिश्तेदारों के नाम भी अज्ञात बता रही है, लेकिन उसको जिले के सभी विपक्षी नेताओं के नाम मालूम है, ये पूरा षड्यंत्र है, भारतीय जनता पार्टी के लोगों का षड्यंत्र है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.