रायगढ़

जीजा ने साली को उतरा मौत के घाट: बीवी को पिलाती थी दारू, उसके खिलाफ भड़काती थी, महिला की टंगिया मारकर हत्या कर दी, गिरफ्तार

रायगढ़

जिले में एक अधेड़ ने अपनी ही बड़ी साली की टंगिया मारकर हत्या कर दी है। कोतरा रोड पुलिस ने अब आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और गुरुवार को इस मामले का खुलासा किया है। दरअसल, 11 अक्टूबर को पुलिस को सूचना मिली थी कि कोतरा रोड थाना के गोरखा गांव में रहने वाली मीरा गुरूम (43) की धारदार हथियार से वारकर हत्या कर दी गई है। गांव के ही एक कोटवार ने पुलिस से इस बात की शिकायत की थी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने जांच शुरू की थी। मौके पर पहुंची पुलिस को मीरा का शव घर में बने परछी ( हॉल) में पड़ा मिला था। मीरा के शरीर पर धारदार हथियार से वार किया गया था, उसके शरीर से काफी खून बह चुका था। इस पर पुलिस ने उसकी बेटी डॉली से पूछताछ की थी। आरोपी ने महिला को इसलिए मार डाला क्योंकि वह उसकी बीवी को उसके खिलाफ भड़काती थी। वहीं उसकी बीवी और बच्चा दोनों घर छोड़कर भी चले गए थे। इस बात से भी आरोपी परेशान था। जिसके चलते उसने इस वारदात को अंजाम दिया। डॉली ने पूछताछ में बताया था कि वो अपनी सहेली के साथ चन्द्रपुर मंदिर दर्शन करने चली गई थी। उसका भाई काम करने फैक्ट्री गया था। वहीं उसकी छोटी बहन और पिता 8 अक्टूबर को ही नेपाल चले गए थे। डॉली ने बताया कि वह सुबह 10.30 बजे से घर से निकली थी। शाम को जब वो करीब 4.30 बजे घर पहुंची तब उसने अपनी मां के शव को घर पर ही पड़ा हुआ देखा था। डॉली के बयान के आधार पर ही पुलिस ने अपनी जांच शुरू की। जांच में पुलिस को चक्रधरनगर थाना के नवापाली में रहने वाले पूर्णचंद जैपुरिया (48) पर शक हुआ। इसके बाद पुलिस तुरंत ही मौके पर रवाना हो गई और पूर्णचंद जैपुरिया से पूछताछ शुरू की। पूछताछ में पूर्णचंद ने बताया कि उसकी पत्नी और बच्चे उसे छोड़कर चले गए थे। पत्नी और बच्चे गोरखा में जाकर मेरी बड़ी साली के घर के पास रहते थे। मैंने अपनी बीवी और बच्चे से कई बार मिलने का प्रयास किया। लेकिन वो मुझसे मिलने को तैयार नहीं थे, इसके अलावा वो मेरे साथ रहना ही नहीं चाहते थे। पूर्णचंद ने बताया कि मेरी बीवी को मीरा भड़काती थी और उसे अपने साथ बैठाकर दारू पिलाती थी। इसी वजह से वो मुझसे मिलना भी नहीं चाहती थी। इसी बात से पूर्णचंद परेशान था। इसके बाद 11 अक्टूबर को मीरा के घर गया था। मीरा के घर गया तब मीरा भी उसके साथ गाली गलौज करने लगी। इस पर उसने मीरा पर टंगिया से 7 से 8 बार वार किया। जिससे मीरा की मौके पर ही मौत हो गई। पूर्णचंद ने बताया कि वो घर से टंगिया लेकर निकला था। वारदात को अंजाम देने के बाद वो भाग गया था। इसके अलावा पूर्णचंद ने पुलिस को और भी चौंकाने वाली बात बताई है। पूर्णचंद मूल रूप से ओडिशा का रहने वाला है। उसने बताया कि 2012 मे उसने अपने रिश्ते में भतीजे की भी हत्या जमीन विवाद के चलते की थी। जिसके चलते उसे ओडिशा की सुंदरगढ़ जेल में बंद किया गया था। लेकिन वो पेशी के दौरान भागकर उत्तर प्रदेश चला गया था। उत्तर प्रदेश में चार महीने रहने के बाद वो वापस ओडिशा आया। ओडिशा आने पर फिर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। वो 6 महीने पहले ही जेल से छूटकर आया था। जेल से छूटने के बाद वो अपनी पत्नी और बच्चे के साथ रह रहा था। लेकिन कुछ महीने पहले उसकी बीवी और बच्चे उसे छोड़कर चले गए थे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.