छत्तीसगढ़

कर्मी से 15 लाख की लूट: 24 घंटे बाद कैशियर की स्कूटी मिली, डिग्गी से निकला खाली बैग

दुर्ग

इंडियन बैंक कसारीडीह शाखा के कैशियर राहुल चौहान से हुई लूट के मामले में पुलिस को 24 घंटे बाद उसकी स्कूटी मिल गई है। जेल तिराहा पर लावारिस हालत में गाड़ी खड़ी थी। दुर्ग कोतवाली, मोहन नगर थाना और साइबर सेल की टीम इस मामले में 200 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल चुकी है। स्टेशन रोड पर लगे कैमरे से क्लू तो मिला है, लेकिन लुटेरे को चेहरा नहीं दिख रहा है। जब उसे चेक किया गया तो डिग्गी के अंदर नीले रंग का खाली बैग मिला। इसी बैग में राहुल 15 लाख रुपए भरकर अपनी शाखा ले जा रहा था। पुलिस का कहना है कि उन्हें स्कूटी के साथ-साथ मामले से जुड़े कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा। पुलिस का कहना है कि वारदात को अंजाम देने के बाद लुटेरा जेल रोड से होते हुए पुलगांव चौक की तरफ भागा है। वहां के भी सभी दुकानों, पेट्रोल पंप और मकानों के फुटेज को चेक किए गए हैं। पुलिस का कहना है कि लुटेरे अभी जिले की सीमा से बाहर नहीं गए हैं। उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।  मामले की जांच करने वाले सभी अधिकारी से लेकर पुलिस कर्मियों तक का यही कहना है कि अब तक उन्होंने कई लूट के मामले देखे हैं, लेकिन इस तरह का मामला पहली बार देखा है। अब तक जितने भी मामले हुए हैं उसमें बंदूक की नोक पर पैसे लूटना, बैग छीनना, मारपीट करके पैसे लूटना जैसी घटनाएं हुई हैं। ऐसा पहली बार हुआ है, जब कोई आरोपी गाड़ी सहित लूट कर भागा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.