कोरबा

…. तो हैरत के साथ परेशान होना लाजिमी…. जिंदा को रिकॉर्ड में मार डाला….. अब खुद को जीवित साबित करने थाने का चक्कर काट रहा अधेड़

कोरबा

मारपीट और गैरइरादतन हत्या के मामले में आरोपी नामजद किए गए राजेश बेलदार के साथ ऐसा ही हुआ। पेशी पर नहीं जाने के दौरान जो जानकारी मिली, उस आधार पर पुलिस ने उसे तलब किया। कोरबा में कोतवाली पुलिस थाना के अंतर्गत आने वाले सीएसईबी पुलिस चौकी से जुड़े हुए इस मामले ने ढोड़ीपारा वार्ड क्रमांक 15 में रहने वाले राजेश बेलदार को परेशान कर दिया है। खबर के अनुसार वर्ष 2010 में इसी इलाके में शराब पीने के दौरान गौरांग पाल के साथ मारपीट हो गई थी। घटना के बाद गौरांग की मौत हो गई थी, जिस पर पुलिस ने 323, 304 ए का प्रकरण दर्ज किया था। राजेश ने बताया कि इस मामले में उसके सहित पत्नी और बहन को आरोपी बनाया गया था। इस प्रकरण में राजेश ने 4 साल की सजा काट ली है। राजेश ने बताया कि संबंधित मामले में उसे कोर्ट ने बरी कर दिया था। पिछले दिनों पता चला कि उसे रिकॉर्ड में किसी ने मृत घोषित कर दिया है, जबकि वह जीवित है। इसी सिलसिले में पुलिस ने उसे आज तलब किया था। सीएसईबी पुलिस चौकी प्रभारी आशीष सिंह ने बताया कि 323 और 304 ए आईपीसी में राजेश को नामजद किया गया था। पेशी पर नहीं जाने के कारण उसकी खोजबीन हुई। उम्मीद है कि कोर्ट में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के साथ राजेश के सामने जो समस्याएं खड़ी हुई है, उनका समाधान हो सकेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.