जांजगीर चांपा

जांजगीर-चांपा: दो सिपाहियों से आदिवासी समुदाय परेशान….सिपाही कहते हैं कि अवैध शराब बनाते हो पैसे दो

जांजगीर चांपा

मामला जिले के मुलमुला थाना क्षेत्र का है दो सिपाहियों से आदिवासी समुदाय परेशान हो गया है। उनका कहना है कि देवता को शराब चढ़ाते हैं तो दोनों सिपाही कहते हैं कि अवैध शराब बनाते हो। डरा-धमका कर रुपए मांगते हैं। नहीं दो तो जबरदस्ती थाने ले जाते हैं और बंद करने की धमकी देते हैं। कहते हैं कि 6 एकड़ जमीन बेचकर रुपए दिए तब पुलिस बना हूं। अब वसूली कर 12 एकड़ जमीन खरीदूंगा। आदिवासी समुदाय ने शनिवार को इस संबंध में SP से शिकायत की है। गंभीर आरोप लगाते हुए आदिवासियों ने कहा पूछताछ के नाम पर रात में महिलाओं को ले जाते हैं थाने। आरोपी सिपाही महिलाओं को खुद पकड़ते हैं और थाने ले जाने की बात कहकर डराते-धमकाते हैं। जबकि कोई महिला सिपाही भी साथ नहीं होती है। शिकायतकर्ताओं ने बताया कि वे आदिवासी गोंड़ (सबारिया) जाति के हैं। पूजा-पाठ के दौरान बूढ़ादेव को शराब चढ़ानी पड़ती है। कभी-कभी उत्सव में पीने के लिए एक-दो लीटर बना भी लेते हैं। ऐसे में दोनों आरोपी कॉन्स्टेबल मोहल्ले में आते हैं और लोगों के गिलास सूंघते हैं। हाथ में पकड़े ग्लास में भट्‌टी से बनी महुआ शराब की महक आती है तो उन्हें पकड़ लेते हैं। फिर थाने ले जाने के बहाने मोटी रकम मांगते हैं।

ज्ञापन मे कहा गया है कि सबरिया डेरा वासी दोनों कॉन्स्टेबल के व्यवहार एवं दुष्कृत्य से काफी डरे और परेशान हैं। उन्होंने थाने में भी सिपाहियों की शिकायत की थी, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। ऐसे में वे अब न्याय मांगने SP ऑफिस आए हैं। वहीं SP प्रशांत ठाकुर ने मामले की जांच कराने के बाद दोषियों पर कार्रवाई करने का आश्वासन आदिवासी समुदाय को दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.