छत्तीसगढ़

आरोपी सूदखोर गिरफ्तार: ब्याज में कर्ज देकर करता था परेशान, युवक को सुसाइड करने किया मजबूर, अब गिरफ्तार

भिलाई

दुर्ग जिले में एक व्यक्ति को कोरोना काल में एक सूदखोर से कर्ज लेना इतना महंगा पड़ा कि उसे अपनी जान तक देनी पड़ गई। मृतक के पास एक सुसाइड नोट मिला था, जिसमें उसने पूरी सच्चाई का जिक्र किया था। अमलेश्वर टीआई गोपाल वैश्य ने बताया कि हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी आकाश राठौर पिता राजेन्द्र गणेश लाल राठौर (30 वर्ष) ने एक साल पहले गैरेज खोला था। इसके लिए उसने 30 रुपए प्रति सौकड़ा के हिसाब से 1 लाख रुपए का कर्ज क्रांति उर्फ विशाल देशमुख से लिया था। इन पैसों से उसने गैराज तो खोल लिया, लेकिन कोरोना काल में नहीं चला। इससे आकाश की माली हालत बिगड़ती चली गई। इधर, ब्याज की रकम नहीं मिलने पर सूदखोर विशाल उसके घर जाकर पैसे न देने पर गाली गलौज कर जान से मारने की धमकी देने लगा था। इससे तंग आकर 27 अक्टूबर 2021 को आकाश ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। अमलेश्वर पुलिस जैसे ही आरोपी को पकड़ने गई वह भाग गया था। अब 25 दिन बाद पुलिस ने आरोपी सूदखोर को गिरफ्तार किया और उसे न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। पुलिस ने बताया कि मृतक ने अपने सुसाइड नोट में लिखा था कि वह अपने पूरे होशो हवास मे इस सुसाइड नोट को लिख रहा है। उसने विशाल देशमुख नामक व्यक्ति से पिछले साल तीस प्रतिशत ब्याज मे कर्ज लिया था। गैरेज बंद होने के कारण वह ब्याज नहीं दे पाया। इससे विशाल देशमुख उसके घर पर आकर गाली गलौज करता है। उसे समझाया कि जब पैसा आयेगा तो वह रकम चुकता कर देगा, लेकिन विशाल मानने के लिए तैयार नहीं है। अब मेरे पास दूसरा रास्ता नहीं है, मेरा काम भी जल्दी नहीं हो रहा है। अब मै कुछ नहीं कर सकता। वह मेरे नाम की बदनामी भी करता रहता है। मैं क्या करूं, मुझे समझ नहीं आ रहा है। इस लिए मैने सुसाइड करने का फैसला लिया है। टीआई ने बताया कि मृतक की मां शोभा रानी राठौर ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके सामने भी कई बार विशाल घर पर आया और ब्याज देने की बात पर उसके बेटे को धमकी देता था विशाल देशमुख की धमकियों के कारण ही उसके बेटे ने सुसाइट किया है। मां की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कर्जा एक्ट के तहत कार्रवाई की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.