छत्तीसगढ़

महिला को 2 लाख रुपए के लिए सताया, पैसे भी ले लिए लेकिन पत्नी को साथ नहीं ले गया, केस दर्ज 

भिलाई

महिला थाना पुलिस ने नारायणपुर जिला निवासी पांच लोगों के खिलाफ दहेज के लिए परेशान का मामला दर्ज किया है। थाने में एक विवाहिता ने आरोप लगाया है कि विवाह के बाद उसके ससुराल वाले 2 लाख रुपए दहेज की मांग कर रहे थे। जब वह मायके से रुपए नहीं ला सकी तो उन्होंने उसे शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान करना शुरू कर दिया। महिला थाना पुलिस ने पति रिजवान खान, सास शाहीना तस्कीन, ससुर रईस खान, ननद रूखसाना खातून और देवर जीशान खान के खिलाफ धारा 498(ए) और 34 के तहत रिपोर्ट दर्ज की है।

महिला थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दुर्ग पद्नाभपुर निवासी 24 वर्षीय महिला की शादी 26 मई 2016 को नारायणपुर निवासी रिजवान खान पिता रईस खान के साथ हुई थी। शादी में पिता ने अपनी क्षमता के मुताबिक ससुरालियों को 51 हजार रुपए नकद, सोने- चांदी की जेवर और घर उपयोग का सारा सामान दिया था। शादी के बाद जब महिला विदा होकर अपने ससुराल गई तो वहां पहुंचते ही पति, सास, ननद, देवर और ससुर दहेज न लाने को लेकर ताना मारने लगे।

जब उसने उनकी बातों को अनसुना किया तो उन्होंने उसके साथ 2 लाख रुपए मायके से लाने का दबाव बनाते हुए झगड़ा करना शुरू कर दिया। शादी के 5 महीने बाद पति सउदी नौकरी करने चला गया तो ससुराल वाले उसे रुपए न लाने की बात पर मारपीट करके घर से निकालने लगे। 2018 में जब महिला गर्भवती हो गई तो ससुराल वालों ने उसे मायके दुर्ग छोड़ दिया और फिर लेने नहीं आए।

2 लाख रुपए दे दिए, फिर भी नहीं गया लालच

महिला ने आरोप लगाया कि 26 जनवरी 2020 को उसका पति उसके मायके आया और 18 दिन तक रहा। इस दौरान वह मायके में भी उसे प्रताड़ित करता रहा कि उसे गाड़ी खरीदने के लिए मां बाप से 2 लाख रुपए दिलाए। मजबूर पिता ने बेटी का बिगड़ता घर बचाने के लिए दामाद को 2 लाख रुपए दिए। पति रुपए लेकर गया तो फिर उसके बाद पत्नी को लेने नहीं आया। इसके बाद मजबूरी में महिला ने पुलिस में न्याय की गुहार लगाई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.