छत्तीसगढ़

एक लाख की सुपारी देकर शादीशुदा प्रेमिका की कराई थी हत्या, प्रेमी और किलर गिरफ्तार

अंबिकापुर

सरगुजा पुलिस ने डेढ़ वर्ष पूर्व आरईएस के क्वार्टर में हुई महिला की हत्या की गुत्थी सुलझा ली है। मामले में पुलिस ने महिला के प्रेमी और हत्या करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। दरअसल प्रेमिका द्वारा शादी के लिए लगातार दबाव बनाए जाने के बाद प्रेमी उसे रास्ते से हटाना चाहता था। प्रेमिका की हत्या करने उसने योजना बनाई और 1 लाख रुपए देने का लालच देकर उसने एक युवक को तैयार कराया। युवक पीछे के दरवाजे से कमरे में घुसा और उसकी गला तथा तकिए से मुंह दबाकर हत्या कर दी थी। मौके से आरोपी मृतिका का मोबाइल भी ले गया था। पुलिस ने उसे सर्विलांस पर रखा था। इसी बीच पता चला कि हत्या करने वाला युवक उक्त मोबाइल का उपयोग कर रहा है, इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने हत्या की बात स्वीकार की। गौरतलब है कि लुंड्रा के सेमरपारा स्थित आरईएस के पुराने क्वार्टर में सुषमा पैंकरा 30 वर्ष अपने पति अरुण सिंह से अलग रहती थी। लुंड्रा पुलिस को 1 जून 2020 को सूचना मिली कि सुषमा पैंकरा की लाश उसके क्वार्टर में पड़ी है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच की। महिला के कपड़े अस्त-व्यस्त थे तथा चेहरे पर तकिया रखा हुआ था। पीएम रिपोर्ट में महिला की गला व मुंह दबाकर हत्या की पुष्टि हुई थी। इस मामले में पुलिस अज्ञात के खिलाफ धारा 302 के तहत अपराध दर्ज कर आरोपी की खोजबीन में जुटी थी। पुलिस की कई कोशिशों के बाद भी डेढ़ साल से हत्या की गुत्थी सुलझ नहीं पाई थी।

नए सिरे से शुरु हुई जांच
सरगुजा आईजी अजय यादव तथा एसपी अमित तुकाराम कांबले द्वारा हत्या की गुत्थी सुलझाने नए सिरे से जांच हेतु एएसपी विवेक शुक्ला के मार्गदर्शन, एसडीओपी अखिलेश कौशिक के नेतृत्व में टीम गठित कर आरोपी की घर-पकड़ हेतु कार्यवाही प्रारंभ की गई। घटना स्थल निरीक्षण के दौरान तत्कालीन जांच अधिकारियों को मृतिका का मोबाइल नहीं मिला था। उक्त मोबाइल नंबर को सायबर सेल द्वारा सर्विलांस में रखा गया था। इसके अतिरिक्त मुख्य संदेही अमित सिंह जो कि मृतिका का प्रेमी था उस पर भी नजर रखी जा रही थी। इसी बीच सायबर सेल से जानकारी प्राप्त हुई कि ग्राम लुण्ड्रा के एक व्यक्ति दिनेश भुईहर द्वारा मृतिका का मोबाइल इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके बाद उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई।

हत्या करने मिला था लालच
पूछताछ में दिनेश भुईहर ने बताया गया कि अमित सिंह का मृतिका सुषमा के साथ अवैध संबंध था। मृतिका अमित पर शादी का दबाव डाल रही थी। इसके बाद अमित ने उसे अपने रास्ते से हटाने प्लान किया। उसने दिनेश भुईहर को 1 लाख रुपए देने का लालच देकर उसकी हत्या करने कहा। योजना के अनुसार दिनेश भुईहर 31 मई 2020 की रात घर के पीछे के दरवाजे से भीतर दाखिल हुआ और मृतिका सुषमा का मुंह व गला तकिया से दबाकर हत्या कर दी। आरोपी के कबूलनामे के बाद पुलिस ने आरोपी दिनेश भुईहर एवं अमित सिंह को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.