कोरबा

कुसमुंडा गोलीकांड : जांच में पुलिस भी चकरा गई, फरियादी ही निकला आरोपी

कोरबा

कुसमुंडा पेट्रोल पंप के पास पिछले दिनों हुए गोली कांड का मामला पूरी तरह फर्जी निकला. इस मामले में जो प्रार्थी बना था दरअसल वहीं आरोपी है. आरोपी ने राजा खान, अभिषेक सिंह और अशरफ खान को फंसाने के लिए तथाकथित गोलीकांड की पूरी योजना बनाई थी. इस गोलीकांड को अंजाम देने के लिए बिलासपुर निवासी डीजल चोरी का मुख्य सरगना साजिद खान के कहने पर कोरबा के पुरानी बस्ती में रहने वाले गुंडा बदमाश गोपू पाण्डेय ने अपने साथी की मदद ली थी. जिसके साथी मुस्तकीम उर्फ मुस्सु ने सुमित चौधरी के जांघ पर गोली चलाई थी. दरअसल इस साजिश को रचने की मुख्य वजह राजा खान,अभिषेक सिंह और अशरफ खान से 20 लाख रुपए की वसूली थी. मामला सामने आने के बाद सुमित के बयान के आधार पर पुलिस ने तीनों के खिलाफ धारा 307 और आर्म्स एक्ट का मामला कायम कर जांच शुरु कर दी थी. जांच के दौरान यह बात सामने आई कि सुमित पर गोली चली ही नहीं. फॉरेंसिक एक्सपर्ट से मामले की जांच कराई गई. इतना ही नहीं और भी कई जांच किए गए जिसके बाद यह स्पष्ट हो गया कि राजा खान,अभिषेक सिंह और अशरफ खान का इस कांड में कोई हाथ नहीं है. खदान के भीतर डीजल चोरी के अवैध कारोबार को हथियाने को लेकर यह साजिश रची गई थी. मामले में पुलिस ने सुमित चौधरी और गुंडा बदमाश गोपू पाण्डेय के साथ मुस्तकीम उर्फ मुस्सु को गिरफ्तार कर लिया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.