जांजगीर चांपा

गांव, गरीब, किसान, मजदूरों के हित में छत्तीसगढ़ के उन्नति, समृद्धि, विकास और आत्मनिर्भरता के लिए फैसला लेते पुरे हुए भूपेश सरकार के 3 साल : रफीक सिद्दीकी

जॉजगीर-चाम्पा

जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता रफीक सिद्दीकी ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी और भूपेश बघेल सरकार के तीन साल के कार्यकाल को लेकर खास बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ के लिए यह 3 साल ऐतिहासिक उपलब्धियों से भरा हुआ है। कांग्रेस के शासनकाल में समूचे छत्तीसगढ़ में सुशासन स्थापित हुआ है। अब प्रदेश में भाजपा शासनकाल की तरह भय, भ्रष्टाचार और भूख का वातावरण नहीं है। अब छत्तीसगढ़ की जनता रोजगार के लिए प्रदेश से बड़े पैमाने पर पलायन कर दूसरे राज्य नहीं जा रहे बल्कि रोजगार के अवसर तलाशने अब अन्य प्रदेशों के लोग छत्तीसगढ़ का राह ताक रहे हैं। कांग्रेस पार्टी के भूपेश बघेल जी की सरकार के उन्नति समृद्धि विकास और आत्मनिर्भरता के 3 साल पूरे हुए हैं साथ ही इन 3 सालों में हमारा प्रदेश सुदृढ़ और सक्षम प्रदेश के रूप में उभरा है आज छत्तीसगढ़ को पूरे देश में एक विकसित राज्य के रूप में जा ना जा रहा है। छत्तीसगढ़ में सरकार गठन के बाद कर्ज माफी का फैसला, प्रदेश के लगभग 11लाख किसानों के 9000 करोड़ का कर्ज माफी, अन्नदाता ओं का एक-एक दाना 25 सो रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी, राजीव गांधी किसान ने न्याय योजना के तहत प्रति एकड़ 9 हजार सहायता राशि, 400 यूनिट तक फ्री बिजली, शिक्षाकर्मियों का संविलियन, लघु वनोपज का समर्थन मूल्य में खरीदी, तेंदूपत्ता संग्रहण का मूल्य वृद्धि , गोधन न्याय योजना का संचालन, युवाओं के लिए रोजगार के अवसर, प्रदेश का कानून व्यवस्था सुदृढ़ होना, स्वस्थय सर्वेक्षण में लगातार तीन वर्षों तक पुरस्कृत होने का गौरव और लगभग 20 से अधिक ऐसे योजना जो सीधे तौर पर आम जनजीवन को लाभ पहुंच रहा है वह छत्तीसगढ़ में संचालित है।
प्रवक्ता रफीक सिद्दीकी का कहना है कि कांग्रेस पार्टी ने चुनाव से पहले जो जो कहा सो सरकार बनने के बाद सभी वादा पूरा किया है। जन घोषणा पत्र के 36 में से 25 वादे अब तक पूरे किए जा चुके हैं शेष कार्य को भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार जल्द पूरा कर लेगी। छत्तीसगढ़ में गांव गरीब किसान और मजदूरों की सरकार चल रहा है जिसे विपक्ष के लिए हजम कर पाना मुश्किल हो रहा है। राज्य सरकार के जन हितेषी फैसलों से विपक्ष और विपक्ष के बड़बोले नेताओं के होश उड़ चुके है इसलिए बीच-बीच में वे अपने बड़बोले पन का परिचय देते हुए मुख्यमंत्री और प्रदेश सरकार को लेकर गलत और निराधार और जन सरोकार से परे बयानबाजी कर देते हैं। छत्तीसगढ़ में विपक्ष के पास जन सरोकार का कोई मुद्दा नहीं बचा है जिसको लेकर वह जानता के साथ सड़क पर आ पाये। वर्तमान में विपक्ष अपने गुटबाजी को ही संभाल ले तो बड़ी बात है साल 2018 के निर्वाचन में भूपेश बघेल जी के अगुवाई वाले कांग्रेस ने विपक्ष के उन 15 सालों का हिसाब ऐसा चुकता किया की विधानसभा में केवल 14 सीटों पर सिमट गई आने वाले 2023 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस छत्तीसगढ़ में पूर्ण बहुमत के साथ दोबारा सरकार बनाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.