छत्तीसगढ़

बाबा गुरू घासीदास का संदेश आज भी प्रासंगिक : मुख्यमंत्री श्री बघेल 

  • शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल का नामकरण गौटिया स्व. श्री अंजोर दास पाटले के नाम पर करने की घोषणा  
  • कोरोनाकाल में लाॅकडाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों की सेवा में सामाजिक संगठनों-जिला प्रशासन का सहयोग रहा सराहनीय 
  • मुख्यमंत्री श्री बघेल लालपुर धाम में आयोजित गुरू पर्व मेला में हुए शामिल 

रायपुर

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि बाबा गुरू घासीदास जी का संदेश आज भी औचित्य पूर्ण और प्रासंगिक है। छत्तीसगढ़ बाबा गुरू घासीदास जी के बताये गये सत्य, अहिंसा, भाईचारा, बंधुत्व, सामनता और सद्भाव के मार्गो पर चल कर तीव्र गति से विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है। आने वाले समय में भी बाबा गुरू घासीदास के बताये मार्ग में चलकर छत्तीसगढ़ देश का समृद्ध राज्य बनेगा। मुख्यमंत्री श्री बघेल आज मुंगेली जिले के विकास खण्ड लोरमी के ग्राम लालपुर धाम में बाबा गुरू घासीदास जयंती (गुरू पर्व) के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।  इस अवसर पर उन्होने गौटिया स्व. श्री अंजोर दास पाटले की स्मृति को चिरस्थायी बनाने के लिए ग्राम लालपुर धाम में संचालित शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल को गौटिया स्व. श्री अंजोर दास पाटले के नाम पर करने की घोषणा की। अब शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल लालपुर, गौटिया स्व. श्री अंजोर दास पाटले के नाम से जाना जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आम जनता को बाबा गुरूघासीदास जयंती (गुरू पर्व) की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ में गुरू घासीदास जयंती श्रद्धा, आदर और उत्साह पूर्ण वार्तावरण में मनाई जा रही है। उन्होने कहा कि सत्य ही मानव का आभूषण है। उन्होने सत्य के संदेश को अपने आचरण में उतार कर सतगुणी और सतज्ञानी बनने तथा पशुओं से प्रेम करने की बात कही। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि बाबा गुरू घासीदास ने सामाजिक समरसता का संदेश दिया है। उनका संदेश आज भी प्रासंगिक है। उन्होने कहा कि देश में कोरोना के दौरान लागू लाॅकडाउन में प्रवासी श्रमिक बड़ी कठिनाईयों का सामना करते हुए सड़क और अन्य मार्गो से आ रहे थे। ऐसे समय में जनप्रतिनिधियों, जिला और पुलिस प्रशासन, सामाजिक संगठन, बहुद्देशीय कार्यकर्ता और मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकताओं सहित विभिन्न विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने उनके लिए भोजन, पानी, दवाई यहां तक की पैर के लिए जूता-चप्पल की भी व्यवस्था की गई। यह सब बाबा गुरूघासी दास के आर्शीवाद से ही संभव हो सका।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि प्रदेश का हर परिवार आर्थिक रूप से सम्पन्न हो। उन्हें गुणवत्ता युक्त शिक्षा मिले। इसके लिए प्रदेश में अनेक योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। उन्होने कहा कि इस वर्ष बड़ी मात्रा में धान का उत्पादन हुआ है। अब तक 31 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। इनपुट सब्सिडी मिलाकर किसानों को 2500 रूपये प्रति क्विंटल धान का मूल्य मिल रहा है। उन्होने कहा कि बारदाना की कमी को देखते हुए किसानों के बारदानों में धान खरीदी करने का निर्णय लिया गया है। किसानों के बारदानों से धान खरीदने पर उन्हे प्रति बारदाने 25 रूपये के मान से राशि दी जा रही है। उन्होने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत गो-पालकों और चरवाहों से गोबर की खरीदी की जा रही है। गोपालकों और चरवाहों के बैंक खाते में अब तक 114 करोड़ रूपये दिये गये है। उन्होने कहा कि प्रदेश में राजीव गांधी किसान न्याय योजना जैसे अनेक प्रकार की लाभकारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। इन योजनाओं के संचालन से किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है। यह बाबा के आर्शीवाद से ही संभव हुआ है। इसके पहले मुख्यमंत्री श्री बघेल ने समाज के आस्था और विश्वास के प्रतीक जोड़ा जैतखाम की पूजा अर्चना की और लोगों की समृद्धि की कामना की। तत्पश्चात् समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री श्री बघेल को भव्य पुष्पमाला पहनाकर उनका स्वागत किया।

प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री डाॅ. शिव डहरिया ने भी बाबा गुरू घासीदास जयंती समारोह गुरू पर्व को संबोधित किया। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 17 दिसम्बर 2018 को शपथ ली और उसके दूसरे दिन अर्थात् 18 दिसम्बर 2018 को बाबा गुरू घासीदासी जयंती में शामिल हुए। उसी दिन मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार बाबा गुरू घासीदास के बताये मार्ग पर चलेगी। उन्होने कहा कि राज्य सरकार द्वारा की गई अधिकांश घोषणा पूरी कर ली गई है। उन्होने कहा कि पूरे देश में स्वच्छता आधारित सर्वेक्षण किये गये। इस सर्वेक्षण में पूरे देश में छत्तीसगढ़ प्रथम स्थान पर रहा। जिस पर छत्तीसगढ़ गौरवान्वित महसूस कर रहा है। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने गठन के तत्काल बाद पहला निर्णय किसानों के हित में लिया। उनके अल्पकालीन कृषि ऋण को माफ किया। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री श्री बघेल समाज के सभी लोगों को साथ लेकर चल रहे है। मुख्यमंत्री श्री बघेल के नेतृत्व में समाज में और अधिक सम्पन्नता आएगी।

इस अवसर पर सतनाम कल्याण समिति बंधवा के अध्यक्ष गौटिया श्री फणीश्वर पाटले, श्री नरेश पाटले, राजमंहत श्री भुनेश्वर पाटले, छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल के अध्यक्ष श्री अटल श्रीवास्तव, सहकारिता बैंक के अध्यक्ष श्री प्रमोद नायक,  जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती लेखनी सोनू चंद्राकर, बिलासपुर जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण चाौहान, जनपद पंचायत लोरमी अध्यक्ष श्रीमती मीना नरेश पाटले, वरिष्ठ नागरिक श्री सागर सिंह बैस, कलेक्टर मुंगेली श्री अजीत वसंत, पुलिस अधीक्षक श्री डी.आर. आंचला सहित समाज के गणमान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में बाबा गुरू घासीदास के अनुयायी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन श्री स्वारथ दिवाकर ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.