जांजगीर चांपा

3 साल की बच्ची को बिच्छू ने काटा, परिजन कराते रहे झाड़-फूंक, मौत

जांजगीर

अंधविश्वास के चलते 3 साल की बच्ची की मौत हो गई। बच्ची को बिच्छू ने काटा तो परिजन उसे अस्पताल ले जाने की जगह झाड़-फूंक कराते रहे। बताया जा रहा है कि इसी देरी के चलते बच्ची ने दम तोड़ दिया। डूमरपारा गांव के संतोष बंजारे की 3 साल की बेटी संध्या बुधवार शाम घर के बाहर ही अपनी सहेलियों के साथ खेल रही थी। इसी दौरान उसे बिच्छू ने डंक मार दिया। उसके रोने की आवाज सुनकर परिजन पहुंचे तो वहां बिच्छू को देख उसे मार दिया। इसके बाद डॉक्टर के पास ले जाने की जगह बच्ची की झाड़-फूंक कराने लगे। सूचना मिलने पर पुलिस ने मर्ग दर्ज कर लिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। मामला बाराद्वारा थाना क्षेत्र का है। बताया जा रहा है कि झाड़-फूंक से इलाज के दौरान ही बच्ची ने उल्टियां करनी शुरू कर दी और थोड़ी ही देर में उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। डॉक्टरों ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सांप और बिच्छू के काटने पर अभी भी झाड़-फूंक का तरीका अपनाया जाता है। इसके चलते जहर बच्ची के शरीर में फैलता चला गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.