छत्तीसगढ़

मुखबिरी के शक में ग्रामीण की हत्या, आधी रात को वर्दीधारी नक्सली घर में घुसे, राइफल के बट और डंडे से पीटकर कर दी हत्या

राजननांदगांव/औंधी

जिले के माओवाद प्रभावित औंधी थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत पेंदोड़ी के निडेली गांव में माओवादियों ने बीती रात घर में सो रहे एक ग्रामीण को घर से उठाया और कुछ दूर ले जाकर उसकी हत्या कर दी। नक्सलियों ने ग्रामीण की हत्या के बाद मौके पर पर्चे भी फेंके हैं। जिसमें मृतक ग्रामीण पर पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने इसे माओवादियों की बौखलाहट बताया है। पुलिस द्वारा पिछले दिनों माओवादियों को तगड़ा झटका दिया गया है। इसके चलते ही ग्रामीण की निर्मम हत्या कर दी गई है।
मुखबिरी के शक में ग्रामीण की हत्या, आधी रात को वर्दीधारी नक्सली घर में घुसे, राइफल के बट और डंडे से पीट-पीटकर कर दी हत्या
मुखबिरी के शक में ग्रामीण की हत्या, आधी रात को वर्दीधारी नक्सली घर में घुसे, राइफल के बट और डंडे से पीट-पीटकर कर दी हत्या पुलिस से मिली जानकारी अनुसार निडेली गांव निवासी ३० वर्षीय तीजू राम बोगा, पिता सोमा राम बोगा गुरुवार रात को खाना खाने के बाद अपने परिवार वालों के साथ घर में सो रहा था। इस दौरान रात करीब ४ बजे वर्दीधारी 7 से 8 बंदूकधारी माओवादी तीजू के घर पहुंचे। दरवाजा खटखटाया और तीजू को उठा कर ले गए।

पत्नी ने खोला दरवाजा
बंदूकधारी माओवादियों के घर का दरवाजा खटखटाने पर तीजू की पत्नी उर्मिला बोगा ने दरवाजा खोला। दरवाजा खोलते ही 4 माओवादी घर के अंदर प्रवेश किए और सो रहे ग्रामीण तीजू बोगा को उठाकर घर से बाहर ले गए। इस दौरान तीजू की पत्नी उर्मिला भी बाहर निकलने की कोशिश कर रही थी, लेकिन माओवादियों ने उसे धक्का मारकर घर के अंदर ढकेल दिया। आधे घंटे तक तीजू राम के घर में नहीं आने पर उसकी पत्नी उर्मिला ने पड़ोसी, सरपंच व गांव के पटेल को इसकी जानकारी दी।

महिला माओवादी भी पहुंची थी हत्या करने
ग्रामीण तीजू राम की तलाश करने निकले। इस दौरान तीजू राम बोगा का शव सुबह 6 बजे गांव के बाहर भर्री में देखा गया, जिसकी सूचना औंधी थाने में दी गई। औंधी टीआई एसएस लहरे ने बताया कि माओवादियों ने तीजू राम को रायफल के बट व डंडे से हमला कर पहले घायल किया। बाद में गला दबाकर हत्या की घटना को अंजाम दिया है। घटना को अंजाम देने के लिए पुरुष नक्सलियों के साथ महिला माओवादी भी पहुंची थी।

पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा
माओवादियों द्वारा मृतक तीजू राम बोगा के जेब में और लाश के पास पेड़ में पर्चा चिपकाया गया है। जिसमे तीजू राम पर पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। फिलहाल पुलिस अज्ञात माओवादियों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में जुटी है। एसएस लहरे, थाना प्रभारी औंधी ने बताया कि बीती रात को बंदूकधारी माआवोदी निडेली गांव पहुंचे और सो रहे ग्रामीण तीजू राम बोगा को घर से उठाकर बाहर ले जाकर उसकी हत्या कर दिए है। मामला दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.