जांजगीर चांपा

तेज रफ्तार हाईवा घर में घुसी, ड्राइवर, हेल्पर समेत 3 घायल, गुस्साए लोगों ने बिर्रा-शिवरीनारायण रोड में 10 घंटे तक किया चक्काजाम

जांजगीर

जांजगीर जिले में रविवार सुबह एक तेज रफ्तार हाईवा सीधे घर में जा घुसी। राहत की बात ये रही कि इस हादसे में अंदर सो रहे लोग बाल-बाल बच गए हैं। फिर भी हादसे में 3 लोग घायल हुए हैं। सामान को तो काफी नुकसान पहुंचा और मकान भी टूट गया। ग्राम केरा के वार्ड नंबर 19 बिर्रा मुख्य मार्ग पर स्थित धीवर परिवार के मकान में सुबह सब सो रहे थे। इसी दौरान सुबह करीब 5 बजे तेज रफ्तार हाईवा सीधे मकान में घुसी। गाड़ी के अंदर जाते ही सब हड़बड़ा कर उठ गए। मौके पर अफरा-तफरी मच गई। कोई कुछ कर पाता तब तक मकान टूट चुका था। वहीं हाईवा का ड्राइवर राजेश रात्रे और हेल्पर घायल हो चुका था। वहीं हाईवा ने अंदर सो रहे एक शख्स को भी चपेट में ले लिया। वहीं घटना के बाद घर के लोगों का गुस्सा फूट पड्ा और उन्होंने आसपास के लोगों के साथ मिलकर सुबह से ही बिर्रा-शिवरीनारायण रोड बंद कर दिया। गुस्साए लोगों ने इस मार्ग को करीब 10 घंटे तक बंद रखा। इनके चक्काजाम की वजह से आने जाने वाले लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा।काफी देर तक गाड़ी में फंसे रहे हेल्पर और ड्राइवरपुलिस ने बताया कि हादसे के बाद ड्राइवर और हेल्पर काफी देर तक गा़ड़ी के अंदर फंसे रहे। उन्हें किसी तरह कड़ी मशक्कत के बाद गाड़ी से बाहर निकाला गया है। बाद में तीनों घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। घरवालों ने बताया कि हादसे में घर के अंदर रखा, फ्रिज, आलमारी और अन्य सामान भी टूट चुका है। इसी बात से वह नाराज थे और मुआवजे की मांग को लेकर उन्होंने उसी बिर्रा-शिवरीनारायण रोड पर चक्कजाम कर दिया। घरवाले मुआवजे की मांग को लेकर हाईवा मालिक को बुलाने की डिमांड करते रहे। मौके पर पहुंची पुलिस भी समझाने में लगी रही, मगर वे नहीं माने। घरवालों ले कहा कि इस हादसे में उन्हें करीब 10 लाख रुपए का नुकसान हुआ है, जिसका उन्हें मुआवाजा चाहिए। आखिरकार जब दोपहर को 3 बजे शिवरीनारायण तहसीलदार संदीप साय मौके पर पहुंचे तब घरवाले शांत हुए। बिर्रा रोड पर स्थित जिस घर में हाईवा घुसा है, उस घर के मुखिया रत्थु राम धीवर की मुत्यु हुई है और 03 जनवरी को उनका दशगात्र है। जिसकी वजह से घर में परिजन और मेहमान आए हुए थे। जिस वक्त यह घटना घटी उस वक्त बड़ी संख्या में लोग घर पर सो रहे थे। अगर हाईवा घर के उस हिस्से में घुस जाता, तब एक बड़ा हादसा हो सकता था।

बड़ी संख्या में आसपास के लोग भी चक्काजाम में शामिल हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.