देश

बलि प्रथा के दौरान बकरे की जगह बकरे को पकडऩे वाले की काट दी गर्दन…मौत

आंध्र प्रदेश

प्रदेश के चित्तूर में नशे में धुत एक युवक ने बकरे की जगह उसे पकडऩे वाले आदमी की गर्दन काट दी. जिसका अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. इस मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

घटना चित्तूर के वलसापल्ले का है. जहां संक्रांति के अवसर यल्लमा मंदिर में बलि का आयोजन किया गया था. आरोपी चलापथी जानवरों की बलि दे रहा था. 35 साल का सुरेश बलि के दौरान बकरे को पकड़े हुए था. तभी अचानक चलापथी ने बकरे की जगह सुरेश की गर्दन काट दी. पुलिस के मुताबिक चलापथी नशे में था. उसने बकरे की जगह हथियार सुरेश की गर्दन पर मार दिया. घायल अवस्था में उसे नजदीकि मदनपल्ले के सरकारी अस्पताल ले जाया गया. यहां डॉक्टरों ने सुरेश को मृत घोषित कर दिया. चलापथी को पुलिस ने मौके से पकड़ लिया है. मृतक सुरेश शादीशुदा था और उसके दो बच्चे भी हैं. पुलिस इस एंगल से भी जांच कर रही है कि कहीं चलापथी का सुरेश से कोई पुराना विवाद तो नहीं था.

यल्लमा देवी के इस प्राचीन मंदिर में मकर संक्रांति के अवसर पर हर साल बलि का आयोजन किया जाता है. स्थानीय लोगों के मुताबिक यह प्रथा काफी पुरानी है. इस दिन इलाके के लोग अपने जानवरों को लेकर मंदिर परिसर में पहुंचते हैं और बारी-बारी से उनकी बलि दी जाती है. सुरेश भी ठीक इसी तरह अपने जानवर की बलि देने पहुंचा था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.