जांजगीर चांपा

2017 से हो रहे बलौदा बाईपास का निर्माण अब तक अधूरा, BJP विधायक ने दी आमरण अनशन की चेतावनी

BJP विधायक ने दी आमरण अनशन की और भूख हड़ताल की चेतावनी

बलौदा
लोक निर्माण विभाग के द्वारा 6 किलोमीटर की सड़क की निर्माण 2017 से कराई जा रही जो आज दिनांक तक नही बन पायी, जिसके कारण से कोलवाशरी से कोयला परिवहन करने वाली भारी वाहन नगर के बीच से होंकर दिनरात चल रही है और रोज लगातार लोग दुर्घटना के शिकार हो रहें है साथ ही शाम होते ही अघोषित रूप से नगर के व्यापारियों को अपनी अपनी दुकानें बंद करनी पड़ती है ,जिसके कारण से नगर की जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ।
दूसरी ओर लोक निर्माण विभाग और ठेकेदार की लापरवाही के लापरवाही के कारणसे यह सड़क निर्माण अधूरा है जिसका खामियाजा नगर की जनता और आसपास के रहवासी भुगत रहे है।
6 वर्षो में बाईपास सड़क के भूअर्जन के का निराकरण नही करा सके ।इस सम्बंध में नगर के जनता के द्वारा सड़क निर्माण शीघ्र कराए जाने की मांग मौखिक और लिखित रूप से किये,कई बारअखबारों में समाचार प्रकाशित हुआ फिर भी नगर का बड़ा दुर्भाग्य है कि बाईपास सड़क की सौगात नही मिल पायी।
इसी को देखते हुए स्थानीय विधायक सौरभ सिंह के द्वारा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और विधानसभा में भूअर्जन से सम्बंधित लंबित प्रकरणों के बारे में जानकारी देनेऔर मुद्दा उठाने के बाद भी आज दिनांक तक कोई कार्यवाही नही की गई।
इस स्तिथि में शासन प्रशासन की व्यस्थता और ठेकेदार की मनमानी और विभाग के अधिकारी कर्मचारियों की उदासीन रवैया के कारण से आज दिनांक से 15 दिवस के अंदर भूअर्जन के प्रकरणों का निराकरण और ठेकेदार के द्वारा इस पत्र के 15 दिनों बाद कार्य प्रारंभ नही होता है तो निर्माण स्थल पर स्वयं भूख हड़ताल और आमरण अनशन करने की चेतावनी दी है।
6 किलोमीटर की सड़क के लिए प्रशासकीय स्वीकृति 2491.20 लाख की है और अनुबंधित लागत 1706.47लाख
से सड़क सन 2019 तक बनाई जानी थी लेकिन आज पांच वर्ष में 6 किलोमीटर की सड़क में सिर्फ मिट्टी डालने का लेबल काम भी पूरा नही हुआ ।
नगर से चलने वाली भारी वाहनों के चलने के लिए ठदगाबहरा से रामपुर होते हुए साव तालाब अकलतरा रोड़ तक बाईपास सड़क बनाई जानी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.