छत्तीसगढ़

पति से झगड़ाकर छोड़ा घर, बिलासपुर स्टेशन पर आरपीएफ ने स्वजनों से मिलाया

बिलासपुर

पति से झगड़ा होने के बाद एक महिला बच्चे को लेकर घर छोड़कर चली गई। रेलवे स्टेशन में जब आरपीएफ ने उन्हें देखा तो महिला ने आप बीती बताई। चूंकि इस तरह घर छोड़ना गलत था। इसलिए आरपीएफ ने महिला को पहले समझाकर पोस्ट लेकर आए। इसके बाद स्वजनों को सूचना दी गई। स्वजनों को समझाइश के बाद महिला को घर लेकर गए। महिला तिल्दा की निवासी है। दो साल के बच्चे को लेकर वह प्लेटफार्म दो- तीन में बैठी हुई थी। वह गुमसुम बैठी महिला को देखकर आरपीएफ की महिला आरक्षक सपना अहिरवार उनके पास पहुंची। इसी बीच उनसे परेशानी पूछी। लेकिन वह कुछ बताने को तैयार नहीं थी। बार- बार पूछने पर महिला यात्री ने जानकारी दी की पति किसी को लेकर झगड़ा हो गया है। वह ससुराल में नहीं रहना चाहती। इसलिए वह घर छोड़कर जा रही है। पर कहां जाएगी, क्या करेगी यह ठीक से बता नहीं पाई। आरपीएफ को लगा की थोड़ी नाराज है और गुस्से की वजह से नुकसान महिला का ही होना है। इसलिए आरक्षक ने पोस्ट प्रभारी भास्कर सोनी को इसकी जानकारी दी। पोस्ट प्रभारी ने आरक्षक को निर्देश दिया की महिला को समझाकर आरपीएफ पोस्ट लेकर आए। वह आरक्षक की बात मान गई और पोस्ट में आई। वह ससुराल नहीं जाना चाहती थी। लेकिन आरपीएफ के बार- बार समझाने पर वह मान गईं। महिला ने आरपीएफ से कहा कि आपसी मनमुटाव को दूरकर पति के साथ रहना चाहती हूं। इसके बाद पति व स्वजनों को सूचना देकर बिलासपुर आरपीएफ पोस्ट बुलाया गया। जानकारी मिलते ही स्वजन बिलासपुर पहुंचे। यहां उनके बीच बातचीत कराई गई और यह भी कहा गया कि थोड़ी देर की नाराजगी से बड़ा नुकसान हो सकता है। इसलिए नाराजगी दूर करें। पति ने आरपीएफ को आश्वासन दिया की अब दोबारा किसी बात को लेकर झगड़ा नहीं करेगा। इसके बाद महिला को उनके सुपुर्द कर दिया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.