बिलासपुर

छत्तीसगढ़ : सहेली के दोस्तों ने किया 10वीं की छात्रा से गैंगरेप

बिलासपुर

बिलासपुर में 10वीं कक्षा की छात्रा को बंधक बनाकर दो युवकों ने गैंगरेप किया। दोनों आरोपी छात्रा के परिचित और उसकी सहेली के दोस्त हैं। सहेली से मिलने पहुंची छात्रा को घर छोड़ने के बहाने कार से हॉस्टल ले गए जबरदस्ती शराब पिलाकर दुष्कर्म किया। उसके बदा बदहवास हालत में चौक पर छोड़कर भाग निकले। सिविल लाइन थाना क्षेत्र में रहने वाली 16 साल की लड़की को रविवार की देर शाम उसकी सहेली ने कॉल किया राजीव गांधी चौक पर मिलने के लिए बुलाया। रात करीब 8 बजे वह राजीव गांधी चौक पहुंची और अपने सहेली को फोन किया। उसने बताया कि वह गांधी चौक पहुंच गई है और वह कहां है। तब सहेली ने उससे कहा कि वह अपने घर में है। उसके घरवाले डांट रहे हैं, इसलिए वह नहीं आ सकती।मामला सामने आने के बाद पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। घटना कोतवाली थाना क्षेत्र की है। गिरफ्तार आरोपी भाजपा नेता व पूर्व पार्षद का बेटा है। छात्रा की सहेली ने कहा कि वह नहीं आ सकती। उसके दोस्त कश्यप कॉलोनी गली नंबर-4 निवासी उसके दोस्त संतोष कुमार पमनानी उर्फ सन्नी (26) और कुम्हारपारा करबला चौक निवासी समीर खान उर्फ भुरूवा उर्फ सैम (19) कार लेकर आ रहे हैं, उनके साथ चली जाओ। कुछ देर बाद दोनों युवक कार लेकर राजीव गांधी चौक पहुंचे और उसे बैठाकर ले गए। इसके बाद दोनों युवक उसे पुराना बस स्टैंड करबला स्थित बॉयज हॉस्टल के एक कमरे में ले गए। वहां आरोपियों ने लड़की को बंधक बना लिया और जबरदस्ती शराब पिलाई। छात्रा के मना करने पर युवक गाली देने लगे। इसके बाद दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान छात्रा भागने की कोशिश करने लगी, तब दरवाजा बंद कर दिया गया था। करीब दो घंटे तक युवकों ने उसे अपने साथ रखा। TI शीतल सिदार ने बताया कि छात्रा की रिपोर्ट पर केस दर्ज कर लिया गया है। उसके बयान के आधार पर दोनों आरोपी के खिलाफ बंधक बनाने व सामूहिक दुष्कर्म करने की धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी में एक संतोष कुमार पमनानी उर्फ सन्नी करबला के भाजपा नेता व पूर्व पार्षद राजकुमार उर्फ बबलू पमनानी का बेटा है। इस घटना के बाद दोनों युवक उसे लेकर महाराणा प्रताप चौक स्थित प्लेटिनम बार गए। वहां करीब पांच मिनट तक रहे। वहां से कार में बैठाकर जरहाभाठा मंदिर चौक लेकर आए और बीच सड़क में उसे उतारकर दोनों युवक भाग निकले। लड़की बदहवास हालत में मंदिर चौक के पास पड़ी रही। तभी देर रात उसके पापा ने कॉल किया, तब उसने जानकारी दी। इसके बाद लड़की के पिता उसे अपने साथ ले गए। घर पहुंच कर लकड़ी ने अपनी मां को आप बीती बताई। सोमवार को उसके पापा उसे लेकर सिटी कोतवाली थाना पहुंचे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.