रायपुर

स्कूल में लगी आग, जलकर खाक हो गई लाखों की किताबें और फर्नीचर

रायपुर

रायपुर के जे.एन पांडे स्कूल में शुक्रवार देर रात अचानक हादसा हो गया। स्कूल के पिछले हिस्से के एक स्टोर में अचानक आग लग गई। यहां बहुत सी किताबें और फर्नीचर रखा हुआ था। आग इतनी ज्यादा फैल गई थी कि स्कूल की बिल्डिंग से ऊपर लपटें नजर आ रही थीं। मौके पर पहुंचे फायर डिपार्टमेंट के दो वाहनों ने लगातार 3 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। मगर इस बीच लाखों की किताबें और फर्नीचर जलकर खाक हो गए। स्कूल के पिछले हिस्से में बनी लकड़ी की पुरानी शेड भी पूरी तरह से जल गई। आग लगने की खबर मिलते ही नगर निगम के महापौर एजाज ढेबर और पूर्व मंत्री,रायपुर दक्षिण के विधायक बृजमोहन अग्रवाल भी मौके पर पहुंचे। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल इसी स्कूल के छात्र भी रहे हैं। जनप्रतिनिधि लगातार हालात का जायजा लेते रहे और दूसरी तरफ रेस्क्यू चलता रहा।

पहले लगा कचरे की आग है

स्कूल के पिछले हिस्से में विद्याचरण शुक्ल चौक के पास कुछ लोगों ने हल्की लपटें और धुआं देखा था। तब लोगों को लगा कचरे की आग होगी। मगर धीरे-धीरे आग ने विकराल रूप ले लिया। हड़बड़ा कर फायर डिपार्टमेंट को फोन किया गया। जब हादसा हुआ तब कोई भी स्टाफ और बच्चे स्कूल में नहीं थे। सिर्फ स्कूल की देखभाल करने वाला चौकीदार ही अपने परिवार के साथ मौजूद था। इसके बाद पहुंची रेस्क्यू टीम ने आसपास के इलाकों की बिजली काटी और आग बुझाने का ऑपरेशन शुरू हुआ जो लगभग 2 से 3 घंटे तक जारी रहा। अब इस बात की जांच की जा रही है कि आखिर यह हादसा किस वजह से हुआ।

अंग्रेजों के जमाने का है स्कूल

रायपुर का जे.एन पांडेय स्कूल देश की आजादी के पहले से रायपुर में चल रहा है। तब इसे अंग्रेज चलाया करते थे । यही पढ़ने वाले क्रांतिकारी जे.एन पांडे ने स्कूल की छत पर तिरंगा लहरा दिया था। देश की आजादी के बाद स्कूल का नाम उन्हीं के नाम पर हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.