छत्तीसगढ़

पैसे देकर बेटी को नायब तहसीलदार बनवाने का सपना बुजुर्ग पिता को पड़ गया भारी, लूट गई जिंदगी भर की कमाई

भिलाई

कांकेर के राशन व्यावसायी की बेटी को नायब तहसीलदार और बेटे को एम्स में नौकरी लगाने का झांसा देकर 5 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। आरोपी ने 15 लाख रुपए में डील किया। लेकिन नौकरी न लगने पर जब पैसे की मांग करने लगा तो 10 लाख रुपए लौटाए लेकिन पांच लाख रुपए नहीं दे रहा है। अब जान से मारने की धमकी दे रहा है। शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 420,506,34 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

सुपेला थाना टीआई दुर्गेश शर्मा ने बताया कि हुड़को निवासी राशन व्यापारी निमाई देवनाथ (60 वर्ष) के साथ ठगी हुई है। निमाई के परिचित कातुलबोर्ड हरिनगर निवासी अभिषेक चक्रवर्ती (24 वर्ष) ने उसे अभिजीत सिंह से मिलवाया और अभिजीत सिंह ने स्मृतिनगर निवासी श्रेयांश यादव से। इन दोनों ने निमाई से उसके बेटे को एम्स में कंप्यूटर ऑपरेटर और पुत्री को नायब तहसीलदार की सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर 15 से 28 फ रवरी 2021 को 15 लाख का इंतजाम कर नकद राशि श्रेयांश यादव और अभिजीत सिंह को दे दिया।

पुलिस ने बताया कि निमाई को जब पता चला कि दोनों नौकरी लगाने के नाम पर फर्जीवाड़ा करते हैं। तब वह परिचित अभिषेक को लेकर आरोपी श्रेयांश यादव के घर गया। पुलिस में शिकायत करने की बात पर उसने 5 लाख रुपए के तीन चेक दिए। दो चेक क्लीयर हो गया। 5 लाख रुपए के चेक को उसने बाउंस करा दिया। 5 लाख नहीं देना पड़े। इस लिए निमाई का फोन ही उठाना बंद कर दिया। घर गए तो जान से मारने की धमकी देते हुए कहा कि 5 लाख भूल जाओ। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.