छत्तीसगढ़

शराबी पिता ने ली मासूम की जान, बेटी पैदा होने से था नाराज

सरगुजा

सरगुजा जिले में शराब के नशे में धुत पिता ने अपनी ही 22 दिन की नवजात बच्ची की जान ले ली। आरोपी बेटी के जन्म लेने से खुश नहीं था। बेटी के पैदा होने के बाद से ही वो अपनी पत्नी से मायके चले जाने की बात कह रहा था। पूरी घटना दरिमा थाना क्षेत्र का होने के कारण मेडिकल कॉलेज अस्पताल पुलिस ने जीरो में मर्ग कायम कर लिया है। मेडिकल कॉलेज अस्पताल चौकी प्रभारी सदयुस लकड़ा ने कहा कि बच्ची की मौत चोट लगने के कारण हुई है, हम पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

जिस समय पति अपनी पत्नी को मार रहा था, उस समय 22 दिन की बच्ची मां का दूध पी रही थी। ऐसे में मारपीट के दौरान उसे गंभीर चोट लग गई, जिससे बच्ची बेसुध हो गई। ऐसे में मानमती बच्ची को लेकर करजी चौक पर बैठी थी और बिलख-बिलख कर रो रही थी, तभी रास्ते से गुजर रही पुलिस की टीम ने महिला से रोने का कारण पूछा और फिर तत्काल उसे अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल भिजवाया। जहां जांच के बाद डॉक्टर ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद मां मानमती लगातार रोए जा रही है कि अब वो किसे गोद में लेगी, किसे दूध पिलाएगी, उसे उसके ही पिता ने दूध पीते हुए ही मार डाला। मां ने कहा कि अब मैं किसके सहारे जीऊंगी।

घटना सरगुजा के दरिमा थाना क्षेत्र के मोहनपुर का है, जहां सुभेदरू और उसकी पत्नी मानमती रहते हैं। लंबे इंतजार के बाद उनके घर में बेटी के रूप में संतान ने जन्म लिया था। लेकिन वो इससे नाखुश था। उसने मानपति से कहा कि वो मायके चली जाए, लेकिन प्रसव के बाद की कमजोरी के कारण वो वहां नहीं जा सकी। इससे नाराज पति सुभेदरू ने नशे में अपनी पत्नी पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.