Advertisement
देश

अनंतनाग में 4 शहीद, लापता जवान का शव मिला, इलाके में सेना का ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीर

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान एक और जवान शहीद हो गया है. एनकाउंटर के दौरान शहीद हुए जवान का शव लापता हो गया था. इस तरह बुधवार को शुरू हुए अनंतनाग एनकाउंटर में जान गंवाने वाले शहीदों की संख्या चार हो गई है. अब तक इस मुठभेड़ में सेना के पांच जवान घायल हुए हैं. अधिकारियों ने बताया है कि फिलहाल पूरे इलाके को घेर लिया गया है. अनंतनाग में शुक्रवार को भी सुरक्षाकर्मियों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया है कि एनकाउंटर में उजैर खान नाम का एक स्थानीय आतंकी शामिल है. इसके अलावा एक विदेशी आतंकी के भी मुठभेड़ में शामिल होने की पुष्टि की गई है. सूत्रों ने बताया है कि सुरक्षाबलों को एक आतंकी को ढेर करने में कामयाबी मिली है, जबकि दूसरे आतंकी की तलाश जारी है. हालांकि, इस पर अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.

अधिकारियों ने बताया कि बुधवार को अनंतनाग के कोकेरनाग इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ की शुरुआत हुई. इस एनकाउंटर में सेना के 19 राष्ट्रीय राइफल यूनिट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल मनप्रीत सिंह, कंपनी कमांडर मेजर आशीष धौंचक और जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी हुमायूं मुजम्मिल भट शहीद हो गए. अब शहीद हुए एक और जवान का शव मिलने के बाद इस एनकाउंटर में शहीद होने वाले जवानों की संख्या चार हो गई है. आज जान गंवाने वाले चौथे सैनिक की पहचान अभी तक सामने नहीं आई है.

दरअसल, सेना बुधवार को खुफिया जानकारी के आधार पर एक ठिकाने पर आतंकियों की तलाश कर रही थी. इस दौरान छिपकर बैठे आतंकियों ने सेना के जवानों पर गोलियां चला दीं. आतंकियों की गोली आकर कर्नल मनप्रीत सिंह को लगी, जिसके चलते वह मौके पर ही शहीद हो गए. आतंकियों की गोलीबारी में दो अधिकारी घायल भी हुए, जिन्हें श्रीनगर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान वीरगति प्राप्त हुई. माना जा रहा है कि हमला करने वाले आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के संगठन ‘द रजिसटेंस फ्रंट’ का हिस्सा हैं.

Related Articles

Leave a Reply