Advertisement
देश

लंबे समय से बीमार चल रहे भगवान जगन्नाथ हुए स्वस्थ, अब नगर के भ्रमण पर निकले

वाराणसी

धर्म नगरी काशी में बीमार चल रहे भगवान जगन्नाथ अब स्वस्थ हो गए हैं. 15 दिन बाद अब उनके कपाट भी खुल गए हैं. बीमारी से स्वस्थ्य होकर भगवान जगन्नाथ अब मनफेर के लिए नगर भ्रमण पर निकले हैं. बाकायदा डोली में सवार होकर भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और बड़े भाई बलभद्र भी उनके साथ नगर भ्रमण पर हैं. नगर भ्रमण के बाद वो अपने ससुराल जाएंगे. बता दें कि काशी में यह अद्भुत परंपरा रथयात्रा से जुड़ी है.

वाराणसी के अस्सी स्थित जगन्नाथ मंदिर से जब भगवान की यह डोली यात्रा निकली, तो उनके साथ सैकड़ों भक्त भी शामिल रहे. जगह-जगह इस डोली यात्रा का स्वागत हुआ और भगवान जगन्नाथ पर पुष्प भी बरसाए गए. इस दौरान डमरू के आवाज से पूरा मंदिर गूंज उठा.

आज से शुरू होगी रथयात्रा
जगन्नाथ मंदिर के पुजारी राधेश्याम पांडेय ने बताया कि भक्तों के मोह में भगवान जगन्नाथ अत्यधिक स्नान के कारण बीमार होते हैं और फिर 15 दिन वो भक्तों से दूर रहते हैं. इस दौरान उन्हें परवल और मसालों से बने काढ़े का भोग लगाया जाता है. इस काढ़े के सेवन के बाद जब भगवान जगन्नाथ स्वस्थ हैं, तो रथयात्रा शुरू होती है. 7 जुलाई से भगवान रथ पर विराजकर भक्तों को दर्शन देंगे. तीन दिन तक यह क्रम चलता रहेगा.

222 साल पुरानी है परंपरा
काशी में रथयात्रा की शुरुआत 1802 से हुई थी. उसी समय से भगवान के नगर भ्रमण की परंपरा भी चली आ रही है. इस बार इस परंपरा के 222 साल पूरे हो गए हैं. धार्मिक मान्यता है कि काशी में होने वाले इस रथयात्रा में जगन्नाथ पुरी के रथयात्रा के दर्शन के बराबर ही फल मिलता है.

Related Articles

Leave a Reply