जांजगीर चांपा

दो माह से गायब महिला की घर से 25 किलोमीटर दूर बोरी में मिला सिर कटी लाश

जांजगीर

नवागांव के रास्ते में सोमवार को झाड़ियों के किनारे एक महिला की सिर कटी लाश मिली है। महिला का धड़ पड़ा हुआ था, जबकि सिर का अभी तक पता नहीं चल सका है। धड़ के पास ही देसी शराब की बोतलें और बैग बरामद हुआ है। नवागांव के रास्ते में सोमवार को झाड़ियों के किनारे महिला की लाश देख ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। बैग में मिले आधार कार्ड और बाकी सामान से महिला की पहचान की गई है। महिला करीब दो महीने से लापता थी। जिस जगह से शव बरामद हुआ है, वह महिला के गांव से करीब 25 किलोमीटर दूर है। मामला मुलमुला थाना क्षेत्र का है। पुलिस मौके पर पहुंची तो झाड़ियों के किनारे ही एक बैग और साड़ी पड़ी हुई थी। बैग में आधार कार्ड सहित अन्य सामान था। आधार कार्ड से महिला की पहचान अकलतरा के पीपरसत्ती गांव निवासी राजकुमारी खरे (46) के रूप में हुई है। पुलिस ने जानकारी जुटाई तो पता चला कि महिला दो महीने से लापता थी। पुलिस को शव काफी सड़ी-गली हालत में मिला है। ऐसे में आशंका है कि कई दिन पहले ही उसकी हत्या कर दी गई थी। मौके से 5 शराब की बोतलें मिली हैं। ऐसे में पुलिस को यह भी आशंका है कि वारदात में कई लोग शामिल हो सकते हैं। हालांकि दो महीने से महिला कहां थी, इसको लेकर अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं हो सका है। फिलहाल पुलिस आसपास पूछताछ और छानबीन कर सिर का पता लगाने की कोशिश कर रही है। पुलिस को बैग से अकलतरा थाने में 29 जुलाई को की गई शिकायत की कॉपी भी मिली है। इसमें राजकुमारी खरे ने कहा है कि 10 जुलाई को उसके घर में चोरी हुई थी। इसको लेकर अज्ञात चोरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। बावजूद इसके गांव के ही सेवक राम व उसके परिवार के सदस्यों ने घर में आकर गाली-गलौज और छोटे बेटे धनेश से मारपीट का प्रयास किया। कहा कि उनके खिलाफ क्यों शिकायत की है। साथ ही धमकी दी कि एफआईआर वापस नहीं ली तो बहुत बुरा होगा। महिला के पति की करीब 2-3 साल पहले मौत हो चुकी है। उसके दो बेटे हैं। दोनों कमाने के लिए बाहर जिलों में रहते हैं। गांव में महिला राजकुमारी अकेले ही रहती थी। पुलिस ने उसके दोनों बेटों को सूचना दे दी है। उनके आने के बाद शव का पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। वहीं पुलिस गुमशुदगी को लेकर भी पूछताछ कर रही है। इस संबंध में अभी ज्यादा जानकारी नहीं मिल सकी है।

Related Articles