छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: होमगार्ड उप निरीक्षक की सुनियोजित हत्या….पुलिस गुत्थी सुलझाने में कामयाब

कोरिया

होमगार्ड कार्यालय में पदस्थ उप निरीक्षक (आफिक) दीपेन्द्र सिंह पिता स्व. बी. पी. सिंह उम्र 35 वर्ष सा. मिशन कालोनी मैकुण्ठपुर थाना बैकुण्ठपुर जिला कोरिया छ.ग. दिनांक 25.10.21 से कार्यालय नहीं जा रहा था। जो दिनांक 27.10.21 को प्रार्थी शैलेन्द्र सिंह पिता स्व. बी. पी. सिंह उम्र 32 वर्ष सा. मिशन कालोनी बैकुण्ठपुर थाना बैकुण्ठपुर जिला कोरिया छ.ग., थाना बैकुण्ठपुर उपस्थित आकर गुम इंसान का रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसका बड़ा भाई उप निरीक्षक (आफिस) होमगार्ड दीपेन्द्र सिंह दिनांक 25.10.21 के शाम 07:30 बजे भट्ठी पारा में था, तब अंतिम बार बात हुआ था, फिर इसका भाई दिनांक 27.10.21 तक पर वापस नहीं आया तो प्रार्थी थाना बैकुण्ठपुर जाकर गुम इंसान दर्ज कराया, जिस पर थाना बैकुण्ठपुर में गुम इंसान क्रमांक 30/2021 दर्ज कर जांच कार्यवाही में लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए संतोष कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक जिला-कोरिया ने तत्काल अति. पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह एवं नगर पुलिस अधीक्षक पी.पी. सिंह के नेतृत्व में उप निरीक्षक रंभा साहू थाना बैकुण्ठपुर एवं थाना प्रभारी खड़गवा विजय सिंह की संयुक्त टीम गठित करते हुए पतासाजी हेतु निर्देशित किया गया।

गुम इंसान की जांच में मृतक के मोबाईल लोकेशन ग्राम सोस का मिला था, जो होमगार्ड कार्यालय में पदस्थ महिला होमगार्ड अपने कमाण्डेट से बताई कि दिनांक 25.10.2021 को उसके घर मृतक दीपेन्द्र सिंह उससे मिलने कुछ काम से आया था तथा उस दिन उसके घर पर रिश्तेदार मौजूद थे, इस सूचना पर थाना बैकुण्ठपुर में संदिग्धों को तलब कर कड़ाई से पूछताछ किया गया तब उनके द्वारा बताया गया कि दिपेन्द्र सिंह साहब हमेशा घर पर आता-जाता था, जिससे आरोपीगण नाराज रहते थे, चारों आरोपियों के द्वारा उसकी हत्या करने का प्लान बनाकर दिनांक 25.10.2021 को जब दीपेन्द्र घर आया और घर से बाहर निकला तो चारों आरोपियों क्रमशः विकास कुमार, मथ्रूराम, सुशील, संदीप मिंज साकिन सोंस, बिहीडाँड़ के द्वारा उसके साथ डंडा से मारपीट कर सिर में चोट पहुँचाकर हत्या कर मृतक के शव को छिपाने के उद्देश्य से मृतक को उसी के मोटर सायकल में लादकर सोस जंगल होते हुए उपरोक्त चारों आरोपी हथनीनदाह गेज नदी में ले जाकर नाइलोन की रस्सी से पत्थर से बांधकर मृतक के शव को पानी में डूबाकर छिपा दिये तथा उसके मोबाईल को वही पानी में फेंक दिये। मृतक का जॅकेट सोस के जंगल में छिपा दिये एवं मृतक के पैंट को उतारकर ग्राम चेर सुनीत ढाबा के पास फेंक दिये तथा उसकी मोटर सायकल को रामविचार के बांध डबरी में मृतक के टोपी एवं जूता मोटर सायकल के डिक्की में डालकर मोटर सायफल को पानी में डाल दिये।

आरोपियों के मेमोरण्डम के आधार पर मृतक के शव को हथनीनदाह गेजनदी से बरामद किया गया एवं मृतक का मोबाईल भी हथनीनदाह गेज नदी से गोताखोरों को मदद से बरामद किया गया है तथा मृतक के जैकेट सोस जंगल से, पेंट ग्राम चेर सुनील ढाबा के सामने पुलिया के नीचे से तथा मोटर सायकल एवं टोपी और जूता रामविचार के बांध से बरामद किया गया है एवं घटना में इस्तेमाल किये गये टीवीएस लूना को भी जप्त किया गया है तथा हत्या में प्रयुक्त हथियार डण्डा भी बरामद किया गया है। आरोपियों के विरूद्ध धारा 302, 201, 120 बी, 34 ता.हि. का अपराध घटित करना पाये जाने से थाना खड़गवा में अपराध क्रमांक 420/21 कायम कर विवेचना में लेकर चारो आरोपियों 1. विकाश तिर्की पिता ठाकुर प्रसाद उम्र 48 वर्ष, 2. मथरूराम पिता जगरसाय उम्र 30 वर्ष, 3.सुशील एक्का पिता मोजेश उम्र 21 वर्ष और 4. संदीप मिंज पिता रामकृपाल को गिरफ्तार किया गया है। उक्त होमगार्ड उप निरी. दीपेन्द्र सिंह की आरोपियों द्वारा सुनियोजित जघन्य अंधे कत्ल को कोरिया पुलिस द्वारा तत्परता एवं गंभीरता से कार्यवाही करते हुए हत्या के मामले को सुलझाने में कामयाब रहा। उपरोक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी खड़गवां विजय सिंह, उप निरी. रंभा साहू थाना बैकुण्ठपुर एवं स.उ.नि. दिनेश चौहान, प्र.आर. सुखलाल खलखो, रॉबिन लकड़ा, आर. रवि शर्मा, सुरेश तिग्गा, भानू प्रताप, इलियास कुगुर, सैनिक विनय श्याम की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Related Articles