बिलासपुर

दहेज में ऑडी कार नही देने से दूल्हा बारात छोड़ कर हुआ फरार, मामला पुलिस तक पहुँची तो शादी में हुई खर्च वापसी के शर्त पर हुआ समझौता।

बिलासपुर :  दहेज में ऑडी कार नही देने से दूल्हा बारात छोड़ कर फरार हो गया , मामला पुलिस तक पहुँच ने और एफ. आई. आर. हो उससे पहले  शादी में हुई खर्च को वधु पक्ष को वापस कर देने के शर्त पर समझौता हो गया। मामल सकरी थाना क्षेत्र का है। जहाँ  एक दूल्हा वधु पक्ष से ऑडी कार या उतने कीमत की डिमांड करता है। नहीं देने की स्थिति में दूल्हा विवाह कार्यक्रम से पहले अचानक भाग है और जब विवाद बढ़ा तो बात पुुलिस तक पहुंची गई, फिर एफआईआर हो इससे पहले दोनों पक्ष में समझौता इस शर्त पर हुआ कि जो भी खर्च अभी तक हुआ उसे वर पक्ष के लोग वापस करें और रिश्ता खत्म करे ..

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मंगला के भाटिया रेसीडेंसी निवासी शख्स ने अपनी बेटी की शादी कोरबा के दीपिका के एसईसीएल कर्मी नरेंद्र कुमार द्विवेदी के बेटे प्रकाश द्विवेदी के साथ तय की थी। प्रकाश रायपुर में कार शोरूम में काम करता है। दोनों पक्षों के बीच रिश्ता तय होने के बाद 11 अक्टूबर को सगाई हुई। इस दौरान ही शादी व तिलक की तारीख भी तय कर दी गई, तय कार्यक्रम के मुताबिक 19 नवंबर को तिलक व 20 को बारात स्वागत होना था। बताया जा रहा है कि दोनों पक्ष सकरी के गणेश वाटिका में शादी के लिए पहुंच गए थे। शनिवार को बारात स्वागत की तैयारी चल रही थी, तभी सुबह करीब 10 बजे अचानक दूल्हा गायब हो गया। दूल्हे के भागने की खबर मिलते ही लड़की पक्ष भी हैरान रह गए। उन्हें माजरा समझ में नहीं आया, तब उन्होंने दूल्हे के पिता नरेंद्र से चर्चा की। फिर मामले की शिकायत लेकर थाना पहुंच गए। दोपहर से लेकर रात तक पूरे दिन थाने में दोनों पक्ष जुटे रहे और गहमागहमी का माहौल चलता रहा। मगर दूल्हा वापस नहीं लौटा। शादी में शामिल होने आ रहे दोनों पक्ष के लोग रास्ते से ही वापस लौट गए।

थाने पहुंची दुल्हन व परिजन ने पहले अपनी शिकायत में बताया कि रिश्ता तय होने व सगाई के बाद शुक्रवार को तिलक में उन्होंने 2 लाख रुपए नकद और दो सोने की अंगूठी भी दिए। इसके बाद भी प्रकाश आॅडी कार या फिर 40 लाख रुपए की मांग कर रहे था। उनके मना करने पर वह बिना कुछ बताए भाग निकला।

सकरी थाना प्रभारी प्रसाद सिन्हा ने बताया कि दोपहर से लेकर रात तक दोनों पक्षों के बीच चर्चा चल रही थी। पुलिस दूल्हे की तलाश में भी जुट गई थी। इस दौरान लड़के वाले समझौता करने के लिए प्रयास में जुटे थे। बाद में शादी का पूरा खर्च वापस करने की शर्त पर पीड़ित पक्ष ने शिकायत वापस लेकर लिखित में समझौता कर लिया गया। अभी भी शिकायत मिलेगी तो तत्काल अपराध दर्ज किया जाएगा।

Related Articles