छत्तीसगढ़

17 वर्षीय किशोर पर धारदार हथियार से हमला, तीन आरोपी गिरफ्तार

भिलाई

वैशाली नगर पुलिस ने 17 वर्षीय किशोर पर धारदार हथियार से हमला कर भागे आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसमें से एक मोबाइल लूट का आरोपी निकल गया। पुलिस ने जब लूट के मोबाइल से पहचान कर उसके मालिक को थाने बुलाया और पहचान कराई तो उसने परमजीत को पहचान लिया। पुलिस ने धारदार हथियार व स्कॉर्पियो वाहन को जब्त करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वैशाली नगर टीआई वीरेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि वृंदानगर निवासी बी चंदु 3 दिसंबर की शाम 7 बजे लहूलुहान हालत में थाने पहुंचा था। उसने बताया कि परमजीत सिंह उर्फ पीटर और उसके साथियों ने उसके साथ मारपीट की और किसी धारदार लोहे के हथियार से उसके सिर में वार कर भाग गए। पुलिस ने किशोर को इलाज के लिए अस्पताल भेजा और एक टीम आरोपियों की धरपकड़ के लिए रवाना की गई। पुलिस को रात करीब 9 बजे पता चला की आरोपी स्कॉर्पियो से दुर्ग की तरफ भागे हैं। पुलिस की एक टीम ने उनका पीछा किया। उन्हें जुनवानी ढाबा के पास उसी नंबर की स्कॉर्पियो खड़ी दिखी। पुलिस ने यहां से आरोपी परमजीत सिंह, दलजीत सिंह और राजकुमार ध्रुव को गिरफ्तार किया। तलाशी लेने पर गाड़ी से लोहे का हथियार भी मिला। इसके बाद पुलिस तीनों आरोपियों को थाने ले आई। पूछताछ में परमजीत सिंह ने बताया कि इससे पहले भी वह अपने दोस्त विशाल के साथ मोबाइल लूट की घटना को अंजाम दे चुका है। इसके बाद पुलिस ने उनकी निशानदेही पर लूट के मोबाइल को जब्त किया और उसके माध्यम से मोबाइल के मालिक शुभम यादव को बुलाया तो उसने बताया कि कुछ दिन पहले रात में घर लौटते समय आरोपी परमजीत व उसके दोस्त ने मिलकर उसके साथ झूमाझटकी कर मोबाइल लूटा था। पुलिस ने मोबाइल मालिक की पहचान के बाद आरोपी परमजीत सिंह के खिलाफ लूट और मारपीट की धारा और दलजीत सिंह व राहुल ध्रुव के खिलाफ आर्म्स एक्ट की धारा 25 और 34 के तहत मामला दर्ज कर तीनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इस दौरान पुलिस ने घायल किशोर की शिकायत पर कोई ध्यान नहीं दिया। एक को छोड़कर अन्य आरोपियों के खिलाफ न तो जानलेवा हमला करने का और न ही मारपीट का मामला दर्ज किया गया। इतना ही नहीं लूट के दूसरे आरोपी विशाल के खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं की गई।

Related Articles