रायगढ़

मित्तल दंपती के हत्या की सुलझी गुत्थी, चार नाबालिगों के साथ पांच आरोपी गिरफ्तार

रायगढ़

लैलूंगा में मित्तल दम्पति हत्या के मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें चार नाबालिग और एक युवक शामिल हैं, वहीं एक आरोपी फरार है. पुलिस ने आरोपियों के पास से घटना में प्रयुक्त आरीपत्ती, 80,000 रुपए नगद जब्त किए हैं.

एसपी अभिषेक मीणा और एएसपी लखन पटले ने आरोपियों को पकड़ने के बाद घटनाक्रम का खुलासा किया. बताया कि घटना के बाद जांच के लिए पुलिस टीम गठित की गई थी, जिसने घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज की जांच की. इसमें मित्तल निवास के पीछे वाले रोड से होकर चखना सेंटर जाते 3-4 लड़के नजर आए. आरोपियों ने चखना सेंटर से चोरी की थी, जिस पर चखना सेंटर संचालक की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज कर तीन नाबालिग बालकों को हिरासत में लिया गया था.

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मदन मित्तल का मकान में बांस के सहारे ऊपर रोशनदान तक पहुंचे दो लड़कों ने आरीपत्ती से काटकर अंदर घुसे. घर का दरवाजा खोलने के साथ उनके बाकी साथी भी अंदर प्रवेश किए. कमरे के अंदर आलमारी से बैग निकालते समय पति-पत्नी जाग गए. इस पर आरोपियों ने दोनों का तकिए से गला दबाकर हत्या करने के साथ रुपयों से भरा बैग लेकर फरार हो गए. रास्ते में पहले एक स्थान पर सभी ने रकम का बंटवारा किया. घर पहुंचकर बहाना बनाकर इधर-उधर फरार हो गए.

पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले आरोपी लैलूंगा थाना क्षेत्र निवासी 23 वर्षीय अक्षय प्रधान उर्फ मुंडू पिता राम कुमार प्रधान के साथ विधिसंघर्षरत बालकों को हत्या सहित नकबजनी के धारा 457, 380, 302 IPC में सक्षम न्यायालय पेश किया जा रहा है. घटना में आरोपियों की गिरफ्तारी में एसपी अभिषेक मीणा के मार्गदर्शन, एएसपी लखन पटले के निर्देश पर एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के साथ थाना प्रभारी लैलूंगा, घरघोड़ा, धरमजयगढ़, पूंजीपथरा, चक्रधरनगर के नेतृत्व में गठित टीम व साइबर स्टाफ का विशेष योगदान रहा है.

Related Articles