कोरबा

ट्रांसपोर्टरों ने DSP पर लगाया वसूली का आरोप, ट्रक चलाना है तो हर महीने देने होंगे 40 हजार रुपये

कोरबा

जिले के ट्रांसपोर्टरों ने DSP पर 40 हजार रुपये प्रति महिना रिश्वत देने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगा रहे हैं। डीएसपी पर आरोप लगा है कि वे ट्रांसपोर्टर से प्रति ट्रक के हिसाब से 500 रुपए रिश्वत देने के लिए दबाव बना रहे हैं। इसके लिए उन्होंने एक ट्रक को भी पूरे दिन थाने में जब्त रखे है। ट्रांसपोर्टर ने डीएसपी शिवचरण सिंह परिहार पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। दरअसल, शुक्रवार की रात जब शिवचरण सिंह ने दीपका कोयला खदान से कोथारी साइडिंग तक कोयले का परिवहन कर रही 7 ट्रकों को रुकवा लिया था। इसके बाद 6 ट्रकों को उन्होंने बिना चालान काटे जाने दिया। जबकि एक ट्रक को शनिवार को पूरे दिन थाने में रोके रखे। ट्रांसपोर्टर मोहम्मद आरिफ ने आरोप लगाते बताया कि डीएसपी 500 रुपए प्रति ट्रक घूस महीना देने का दबाव बना रहे हैं। इस हिसाब से हमारे पास कुल 70 से 75 ट्रक हैं। अगर हम इस हिसाब से पैसे देंगे तो हमें हर महीने 40 हजार महीने देने होंगे। ट्रांसपोर्टर आरिफ ने आगे बताया कि डीएसपी साहब ने अपनी टीम के साथ उरगा फाटक के पास कुल 7 ट्रकों को रुकवाया था और बाद में 6 ट्रकों को बिना चालान काटे ही जाने दिया, लेकिन कोयला लदी ट्रकों का परमिशन वाले बिल्टी पत्र को अपने पास जब्त कर लिया। एक ट्रक को शनिवार सुबह से पूरी रात तक पुलिस स्टेशन में जब्त रखा। ट्रांसपोर्टर ने प्रशासन के कामकाजो पर सवाल उठाते हुए कहा कि पकड़े गए सभी ट्रक नो एंट्री में गए थे तो इन्हें बिना चालान के छोड़ क्यों दिया गया? और सिर्फ एक ट्रक को ही जमानत के तौर पर क्यों रोक कर रखा गया है

आरिफ ने अपने बयान में बताया कि हमारे सभी ट्रकों के कागज कंप्लीट थे। इंश्योरेंस के साथ ही परमिट व पर्यावरण प्रमाण पत्र मौजूद थे। सभी ट्रक पूरी तरह नियमों के अनुसार संचालित हो रहे हैं। इसके बावजूद ट्रकों को रोक लिया गया। आरिफ ने कहा है कि हमें लगातार इस तरह से परेशान किया जाता है और पैसों की डिमांड कि जाती है। डिमांड पूरी नहीं करने पर साफ तौर पर कहा जाता है कि सड़कों पर चलने नहीं दिया जाएगा

ट्रांसपोर्टर ने कहा कि शनिवार और रविवार को दिनभर हमारी ट्रक को रोका गया। उस ट्रक का न चालान काटा जा रहा है, न ही यह बताया जा रहा है कि क्या करना है। जिससे हमारा काम भी रुका अटका हुआ है। दीपका, गेवरा की केवल दो खदानों से ही लगभग 1000 कोयला से लदे ट्रक रोज अलग-अलग स्थानों के निकलते हैं। इस मामले में अब दीपका ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन सोमवार को डीएसपी के खिलाफ SP से शिकायत करेंगे।

वहीं उपरोक्त मामले में डीएसपी शिवचरण सिंह परिहार से पूछे जाने पर डीएसपी ने कहा है कि ट्रक चालक नो एंट्री में कोयले का परिवहन कर रहे थे। जोकि नियम के खिलाफ है। इसीलिए उन्हें पकड़ा गया था। 6 ट्रकों को छोड़ दिया गया है। एक ट्रक को ही अभी रुकवा कर रखा गया है। चालान अभी इसलिए नहीं काटा गया क्योंकि ओरिजिनल कागज नहीं थे। ओरिजिनल दस्तावेज लेकर आएंगे तो चालान काट दिया जाएगा और उन्हें छोड़ दिया जाएगा। प्रति ट्रक 500 रुपए महिना मांगने के आरोप डीएसपी ने कहा कि ट्रक चालक जब नियम तोड़कर ट्रकों का संचालन करते हुए पकड़े जाते है तो इसी तरह फिजूल आरोप लगाते हैं।

Related Articles