छत्तीसगढ़

‘भावनात्मक तनाव’ में था अपने ही साथियों पर गोली चलाने वाला जवान, CRPF ने दिए जांच के आदेश

सुकमा

छत्तीसगढ़ के सुकमा में अपने ही साथियों पर फायरिंग कर चार लोगों की जान लेने वाला CRPF जवान जबरदस्त भावनात्मक तनाव से गुजर रहा था. इस दुखद घटना के बाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) ने इस संबंध में बयान दिया है. सीआरपीएफ ने कहा कि अपने चार सहकर्मियों की गोली मारकर हत्या करने और तीन अन्य को घायल करने वाला जवान कथित तौर पर ‘‘भावनात्मक तनाव’’ से गुजर रहा था. इस वजह से अचानक उसने मनोवैज्ञानिक असंतुलन खो दिया. छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के बस्तर क्षेत्र में केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 50वीं बटालियन के एक शिविर में ​जवान रितेश रंजन ने अपने साथियों पर एके-47 राइफल से गोली चला दी थी. इससे चार जवानों की मौत हो गई है जबकि तीन अन्य घायल हो गए. अधिकारियों और जवानों ने आरोपी जवान को किसी तरह काबू में किया. सीआरपीएफ के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘स्थानीय पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और कानूनी कार्रवाई की जाएगी. केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल ने घटना के कारण का पता लगाने और उपचारात्मक उपाय के सुझाव देने के लिए जांच के आदेश दिए हैं.’सीआरपीएफ प्रवक्ता ने कहा, ‘प्रथम दृष्टया, ऐसा प्रतीत होता है कि किसी भावानात्मक तनाव के कारण कॉन्स्टेबल रितेश रंजन ने अचानक मनोवैज्ञानिक असंतुलन खो दिया और गुस्से में आकर अपने कर्मियों पर गोलियां चला दीं.’ उन्होंने बताया कि सीआरपीएफ के उप महानिरीक्षक (DIG), 50वीं बटालियन (जहां गोलीबारी हुई) के कमांडेंट और अन्य वरिष्ठ अधिकारी घटना स्थल पर मौजूद हैं. प्रवक्ता ने कहा कि सभी घायलों को आवश्यक उपचार मुहैया करा दिया गया है. जिन घायलों को अतिरिक्त उपचार की आवश्यकता है उन्हें दूसरे अस्पताल ले जाने की व्यवस्था की जा रही है।

Related Articles