जांजगीर चांपा

जांजगीर: कलेक्टर की पहल पर आंध्र प्रदेश में फंसे 20 मजदूरों को छुड़ाया गया

  • श्रमिकों को वापस लाने के लिए टिकट, भोजन और पैसे की व्यवस्था भी की गई,
  • कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला की संवेदनशील त्वरित कार्रवाई,

जांजगीर-चांपा

कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला की त्वरित पहल और संवेदनशील कार्रवाई से आंध्र प्रदेश में बंधक बनाए गए जांजगीर-चांपा जिले के 20 श्रमिकों को ईंट-भट्ठा मालिक के चंगुल से मुक्त कराया गया और उनके गृह ग्राम तक लाने की व्यवस्था की गई।
कलेक्टर जांजगीर-चांपा को सूचना मिलते ही संवेदनशीलता के साथ त्वरित कार्रवाई करते हुए बंधक मजदूरों को छुड़ाने के लिए काकीनाड़ा (आंध्र प्रदेश) के श्रम उप आयुक्त को पत्र लिखा गया। श्रमिकों की मदद के लिए श्रम पदाधिकारी श्री के.के सिंह को निर्देशित किया गया ।

श्रम पदाधिकारी ने बताया कि आंध्र प्रदेश के काकुनाड़ा के श्रम उप आयुक्त से संपर्क कर बंधक बनाए गए मजदूरों को छुड़ाने के लिए पत्र भेजा गया। मजदूर ग्राम चुकेल्ला, थाना व तहसील चुकेल्ला, जिला-राजमण्डरी (आंध्रप्रदेश) के ईंटभट्टे में काम करने गए अकलतरा तहसील के ग्राम अर्जुनी एवं आसपास के 20 मजदूरों ने बंधक बनाए जाने की सूचना कलेक्टर को पत्र के माध्यम से दी थी। भट्ठा मालिक से मजदूरी नहीं मिलने और दुर्व्यवहार करने का भी उल्लेख किया गया था। इस संबंध में वहां के श्रम उप आयुक्त से संपर्क कर श्रमिकों को मुक्त कराने की प्रशासनिक कार्रवाई की गई । जिला प्रशासन द्वारा इन श्रमिकों को उनके गृह ग्राम तक जाने के लिए रेल टिकट और रास्ते में भोजन एवं अन्य खर्च के लिए भी राशि उपलब्ध करा कर वापस गृह ग्राम भेजा गया। त्वरित कार्रवाई कर मुक्त कराने पर इन श्रमिकों ने जांजगीर-चांपा जिला प्रशासन के प्रति आभार जताया है।

Related Articles