बिलासपुर

मकान निर्माण का झांसा देकर मजिस्ट्रेट से पांच लाख की धोखाधड़ी

बिलासपुर

सिविल लाइन क्षेत्र में मजिस्ट्रेट और शिक्षिका से मकान निर्माण के नाम पर पांच लाख 23 हजार 525 स्र्पये धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। मजिस्ट्रेट की शिक्षिका पत्नी ने इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में की है। इस पर पुलिस जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। नेहरू नगर में रहने वाली पूनम नाज खाखा टीचर हैं। उनके पति रोजमीन राजेश खाखा अंबागढ़ चौकी में न्यायिक मजिस्ट्रेट हैं। उन्होंने अपनी शिकायत में बताया कि वे नेहरू नगर स्थित अपनी जमीन पर मकान बनवाना चाहते थे। इसी बीच कोरबा जिले के जमनीपाली स्थित लांचयार्ड कंस्ट्रक्शन के संचालक शशांक चंद्रदेव मिश्रा उनके नेहरू नगर स्थित मकान में मिलने आया। उन्होंने ठेकेदार शशांक को मकान निर्माण के लिए छह लाख 24 हजार 700 स्र्पये में ठेका दे दिया। इकरारनामा के अनुसार मार्च 2021 में मकान निर्माण पूरा किया जाना था। इस बीच टीचर और उनके पति ड्यूटी पर चले गए। इसी बीच ठेकेदार ने अलग-अलग तिथियों में मकान निर्माण की बात कहते हुए उनसे पांच लाख 23 हजार 525 स्र्पये ले लिए। टीचर जब अपने मकान को देखने आईं तो मकान का निर्माण पूरा नहीं हुआ था। वहीं, ठेकेदार काम बंद कर फरार हो गया था। इस पर टीचर ने ठेकेदार के जमनीपाली स्थित कार्यालय में संपर्क किया। ठेकेदार ने कार्यालय भी बंद कर दिया था। कार्यालय में काम करने वाले कर्मचारी से टीचर ने उसका पता खोज निकाला। इसके बाद उसके पते पर नोटिस भी भेजा। इसके बाद भी ठेकेदार उनका मकान निर्माण नहीं कर रहा है। टीचर ने इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में की है। इस पर पुलिस जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

Related Articles