छत्तीसगढ़

आन्दोलनकारी महिलाओं ने की महिला SI के साथ मारपीट, आईपीएस का कॉलर खींच बैच तोड़ा

रायपुर

होमगार्ड और सहायक आरक्षक, स्तर के जवानों के परिजन उनके वेतन और प्रमोशन के नियमों में बदलाव को लेकर पिछले महीने से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस मामले में छत्तीसगढ़ के डीजीपी अशोक जुनेजा ने एक रिपोर्ट भी सरकार को सौंप दी है, जिस पर जल्द फैसला लिया जाना है। सरकार की तरफ से कहा गया है कि सहायक आरक्षकों की तरह ही वेतन मिलेगा। DGP की तरफ से मिली रिपोर्ट की समीक्षा की जा रही है, जिसके बाद मुख्यमंत्री इस मामले में घोषणा कर सकते हैं। मगर इससे पहले ही विरोध प्रदर्शन के दौरान हुए बवाल ने नया विवाद खड़ा कर दिया है। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद भी विरोध प्रदर्शन मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद भी सोमवार को रायपुर के भाटागांव इलाके में पुलिस परिवार से जुड़ी महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन किया। यह सभी महिलाएं बड़े आंदोलन की तैयारी में थी, मगर इससे पहले ही इनके नेतृत्व करने वाले उज्जवल दीवान और उसके कुछ साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद वहां माहौल गरम हो गया।

Related Articles