रायपुर

छत्तीसगढ़: दर्द से परेशान महिला के पेट से निकला दुर्लभ स्टोन बेबी

रायपुर

गरियाबंद निवासी 26 वर्षीय महिला विगत कुछ दिनों से पेट में दर्द और पानी भरने के कारण होने वाले सूजन एसाइटिस की समस्या से जूझ रही थी। बीमारी का इलाज कराने के लिए महिला आंबेडकर अस्पताल के स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग में भर्ती हुई। सोनोग्राफी से जानकारी मिली कि महिला के पेट के अंदर करीब 7 माह का स्टोन बेबी है, जो गर्भाशय के बाहर पेट में स्थित है और कैल्शियम के जमाव से पत्थर (लिथोपेडियन) में तब्दील हो चुका है।

इसे भी पढ़े- ED जल्द दर्ज करेगी FIR…निलंबित ADG जीपी सिंह के खिलाफ जांच में उजागर हो सकता बड़ा फर्जीवाड़ा

लिथोपेडियन या स्टोन बेबी तब बनता है जब गर्भावस्था, गर्भाशय के बजाय पेट में (एब्डामिनल प्रेगनेंसी) होती है। स्त्री एवं प्रसूति रोग विभागाध्यक्ष प्रो. डॉ. ज्योति जायसवाल के नेतृत्व में स्टोन बेबी को बाहर निकालने के लिए सर्जरी गई, जिसमें करीब 7 माह के विकसित दुर्लभ स्टोन बेबी (मृत) को बाहर निकाला गया। सर्जरी के बाद महिला के पेट की परेशानी समाप्त हो गई।

इसे भी पढ़े- केंद्र सरकार का ऐतिहासिक फैसला: मेडिकल कोर्सेस में OBC कैंडिडेट्स को 27% और आर्थिक रूप से पिछड़े कैंडिडेट्स को 10% आरक्षण मिलेगा

महिला पूरी तरह ठीक है और डिस्चार्ज होने को तैयार है। विभागाध्यक्ष डॉ. ज्योति जायसवाल ने बताया कि बच्चेदानी के बाहर पेट यानी एब्डोमन में भ्रूण का विकास होकर स्टोन बेबी में बदल जाने की स्थिति बहुत ही दुर्लभ है। ऐसे केस काफी कम होते हैं। इस केस को मेडिकल जर्नल में प्रकाशन के लिए मरीज के परिजनों से स्वीकृत ले ली गई है।

इसे भी पढ़े- नशे में धुत लड़की सड़क किनारे गिरी हुई मिली, पुलिस ने पहुंचाया अस्पताल, CCTV कैमरों की जांच कर रही पुलिस  

Related Articles