Advertisement
छत्तीसगढ़रायगढ़

सहारा फ्रॉड मामले में पूर्व रीजनल मैनेजर गिरफ्तार, कार भी जब्त, जानिए क्या है मामला

रायगढ़ : सहारा इंडिया के रीजनल मैनेजर रजनीश कुमार तिवारी को कोतवाली पुलिस ने बिलासपुर के विनोबा नगर से धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया है, साथ ही धोखाधड़ी की संपत्ति से खरीदी गई स्वीफ्ट डिजायर कार को जब्त किया है।

शिकायतकर्ता विकास निगानिया निवासी कृष्णा विहार कालोनी रायगढ़ ने विगत 29 सितंबर 2022 को कोतवाली थाना में सहारा इंडिया के स्थानीय शाखा प्रबंधक एवं अन्य आरोपियों के विरुद्ध धोखाधड़ी का शिकायत दर्ज कराया था, जिससे पुलिस ने आरोपियों पर धारा 420, 120 बी, 34 ताहि, धारा 6,10 छत्तीसगढ़ निक्षेपकों के हितों के संरक्षण अधिनियम, धारा 4,5,6 ईनामी चिट और धन परिचालन स्कीम (पाबंदी) अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया।

इस मामले में कोतवाली पुलिस ने धोखाधड़ी में संलिप्त आरोपी- ओम प्रकाश शर्मा, पुष्पेन्द्र कुमार साहू, करूणेश अवस्थी, अमृत लाल श्रीवास को गिरफ्तार कर विशेष न्यायाधीश रायगढ़ के न्यायालय में चालान पेश किया गया है। वहीं मुखबीर की सूचना मिलते ही कोतवाली थाना प्रभारी के निर्देश पर पुलिस टीम बिलासपुर रवाना हुई और आरोपी रजनीश कुमार तिवारी पिता स्व. उमेश प्रसाद तिवारी (41 वर्ष) को गिरफ्तार कर कोर्ट में चालान पेश किया है। साथ ही कोतवाली पुलिस द्वारा पूर्व ही आरोपियों के चल अचल संपत्ति का चिन्हांकन कर कुर्की/नीलामी के लिए कलेक्टर को पेश किया है।

Related Articles

Leave a Reply