छत्तीसगढ़

लोन लिए पैसे को पति कर रहा था शराब में खर्च…पत्नी ने किया मना तो दुपट्टे से गल्ला दबाकर कर दी हत्या

आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे कोरिया

कोरिया

मनेंद्रगढ़ थाना क्षेत्र में एक घटना घटी, आरोपी अपनी पत्नी का गला दबाकर फरार हो गया था लेकिन पुलिस की चुस्ती और खुफिया तंत्रों के आगे आखिर कर आरोपी ने समर्पण कर दिया, आपको बता दे कि पुलिस अधिकारी सचिन सिंह ने बताया की प्रार्थी रामप्रसाद 30 जुलाई 2021 को थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराया की उसकी बेटी चंदा को उसका दामाद गला दबाकर मार दिया और कहीं भाग गया है। प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना मनेन्द्रगढ में अपराध क्रमांक 238/2021 धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए तत्काल पुलिस अधीक्षक कोरिया संतोष सिंह एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमति मधुलिका सिंह एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी मनेन्द्रगढ राकेश कुमार कुर्रे को अवगत कराया गया और दो टीमे आरोपी की धरपकड़ हेतु गठित की गई जिसकी मानिटरिंग स्वयं पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह कर रहे थे। पहली टीम में सहायक उप निरीक्षक आर.आर.भगत, आरक्षक राकेश शर्मा, राजेश रगडा जो आरोपी के स्थानीय संबंधो की जानकारी प्राप्त कर रही थी तथा दूसरी टीम जिसमें थाना प्रभारी सचिन सिंह, आरक्षक इस्तियाक खान, जितेन्द्र ठाकुर, प्रमोद यादव जो पडोसी राज्य म. प्र. से आरोपी के दोस्तो व रिश्तेदारों को सर्विलांस पर रखे थे। पतासाजी के दौरान टीम -1 को सूचना मिली की आरोपी म. प्र. के बिजूरी में अंतिम बार देखा गया है। पूरी टीमे संबंधित व्यक्तियों पर सतत निगाह रखे हुए थी। सुबह 7 बजे आरोपी ने कोतमा से 13 किलो मीटर दूर अपने मित्र को नये नम्बर से फोन किया और कोतमा पेट्रोल पंप लेने बुलाया चूंकि आरोपी से संबधित सभी व्यक्ति पहले से ही पुलिस टीम के संपर्क में थे। आरोपी को थाना प्रभारी उप निरीक्षक सचिन सिंह की टीम द्वारा कोतमा पेट्रोल पंप के पास पकड़ा गया।
आरोपी अजय कोल पिता रामसंजीवन कोल उम्र 35 वर्ष निवासी मलाई भट्टा चनवारीडांड थाना मनेन्द्रगढ जिला कोरिया से पूछताछ करने पर उसने बताया की उसकी पत्नि महिला समूह से लोन ली थी। उस पैसे को वह शराब पी कर खर्च कर रहा था। पत्नि के मना करने पर गुस्से में आकर शराब के नशे में उसके दुपट्टे से गला दबाकर मार दिया। आरोपी का कृत्य अपराध धारा सदर का पाये जाने पर दिनांक 01 अगस्त 2021 को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेज दिया गया।

Related Articles