छत्तीसगढ़

गांजा तस्करो से संबंध रखने वाला आरक्षक निलंबित, SP ने की कड़ी कार्यवाही

कोरिया

कोरिया जिले में पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने कुंवारपुर चौकी के एक आरक्षक सूर्यपाल सिंह को गांजा तस्करों से संबंध रखने पर पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर विभागीय जांच आदेशित किया है। पुलिस अधीक्षक को इसमें एक ऑडियो क्लिप प्राप्त हुआ था जिसके द्वारा आरक्षक की संलिप्तता स्पष्ट हुआ है। उक्त घटना दो सप्ताह पूर्व का प्रतीत हो रहा है।

दो दिन पूर्व ही एक दूसरे प्रकरण में जिले के जनकपुर थाना प्रभारी जवाहर लाल गायकवाड़ एवं एएसआई लक्ष्मीचंद कश्यप को पुलिस अधीक्षक ने प्राथमिक जांच में गाड़ी सहित अवैध गांजा पकड़ने तथा आरोपियों को पैसे लेकर छोड़ना पाए जाने पर निलंबित कर दिया था। 3 अगस्त को बहरासी थाना जनकपुर में घटित घटना जिसमे एक गांजा से भरी ब्रेजा गाड़ी जिसमें मध्यप्रदेश के तीन गांजा तस्कर थे को पकड़ने के बाद थाना प्रभारी और एएसआई ने पैसे लेने के बाद गाड़ी को छोड़ दिया था। इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्राप्त होने के बाद एसपी संतोष सिंह द्वारा एएसपी धीरेंद्र पटेल को प्राथमिक जांच करने को कहा गया था। जॉच में प्रथम दृष्टया घटना सत्य प्राप्त होने पर कार्यवाही की गई थी। विभागीय जांच संस्थित कर उक्त दोनों पुलिसकर्मियों का मुख्यालय रक्षित केन्द्र बैकुण्ठपुर नियत किया गया है, साथ ही अन्य पुलिस कर्मियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है।

इस घटना में एक स्थानीय पत्रकार की भी भूमिका सामने आई है, जिसको इस प्रकरण की जानकारी होने पर वह घटनास्थल पर पहुँचा था और ब्लैकमेल कर पैसे प्राप्त किया। गांजा तस्कर सहित कुछ अन्य व्यक्ति व्यक्ति भी जांच के राडार में है।

उल्लेखनीय है कि पूर्व में ही डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित किया था कि अवैध शराब एवं गांजे के व्यवसाय पर कठोरतम कार्रवाई करें। कोरिया जिले में नव-पदस्थ पुलिस अधीक्षक द्वारा गांजा, ड्रग्स व अवैध शराब सहित अन्य नशे के अवैध कारोबारियों के ख़िलाफ़ एक अभियान के तहत बड़ी संख्या में कार्यवाहियां की जा रही है।

Related Articles